“यह संकेत दे सकता है कि बाजार प्रतिभागी अपने आत्मसमर्पण के करीब हैं। हम इन्हें उन वर्गों के रूप में देख सकते हैं जो अल्पावधि में खतरनाक हैं लेकिन दीर्घावधि में एक अवसर हो सकते हैं।

बिटकॉइन क्या है? | जाने 1 बिटकॉइन भारतीय मूल्य में कितने रुपयों का है | बिटकॉइन के फायदे और नुकसान | What is Bitcoins in hindi

आजकल के कंप्यूटर वाले दौर में इसका उपयोग बहुत ही तेजी से बढ़ रहा है। लोग या कंपनी अपनी सेवा के बदले भी बिटकॉइन स्वीकार कर रही हैं और बिटकॉइन के साथ खरीदारी भी की जाने लगी है।
Microsoft और Tesla जैसी विश्व की कुछ दिग्गज कंपनियां भी बिटकॉइन के साथ लेनदेन की शुरुआत कर चुकी हैं।

बिट कॉइन क्या है? (Bitcoin kya hai) -

Bitcoin के बारे में आपने सुना ही होगा बिटकॉइन Crypto Currency का एक रूप है।
लैटिन भाषा का शब्द Crypto जिसका मतलब होता है छुपा हुआ और करेंसी का मतलब है मुद्रा, कुल मिलाकर इसका अर्थ होता है छुपी हुई मुद्रा वर्तमान समय में इस शब्द का प्रयोग बिटकॉइन जैसी डिजिटल करेंसी के लिए किया जा रहा है।


बिटकॉइन पूरी तरह से एक पहली (विकेंद्रीकृत) डिसेंट्रलाइज्ड मुद्रा है जो किसी भी सेंट्रलाइज्ड बैंक द्वारा संचालित नहीं की जा रही है। इसका संचालन पूरी तरह से डिजिटल है जोकि Crypto Graphy Technique एवं हाई स्पीड कंप्यूटर नेटवर्क्स की सहायता द्वारा किया जाता है। क्रिप्टोग्राफी शब्द का अर्थ कोडिंग लैंग्वेज को क्रैक या सुलझाने की कला से है। जो कि बाइनरी (Binary) या 0 और 1 के form में होती है। इस पर विश्व के किसी भी देश या बैंक का कोई भी हस्तक्षेप नहीं है।

बिटकॉइन के संपूर्ण लेन देन व रख रखाव का (data) डाटा Block Chain Technique (ब्लाक चैन टेक्नीक) तकनीक द्वारा रखा जाता है। इसका मतलब है कि (Bitcoin) बिटकॉइन के valid यूजर द्वारा किए गए किसी भी प्रकार के लेनदेन को ब्लॉकचेन पर सीक्वेंसली रिकॉर्ड किया जाता है।

जैसा कि अब हम सभी जान चुके हैं कि बिटकॉइन एक वर्चुअल करंसी है और इससे हम केवल अपने वर्चुअल वॉलेट में रख सकते हैं या प्राप्त कर सकते हैं। यह एक सेक्योर वर्चुअल वॉलेट होता है।

बिटकॉइन का आविष्कार किसने किया -

बिटकॉइन सन 2008 में (Satoshi Nakamoto) सातोशी नाका मोटो द्वारा बनाया गया था। लेकिन इसे ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के माध्यम से सन 2009 में लांच किया गया था।

बिटकॉइन का मालिक कौन है। -

Bitcoin का यूज कोई भी कर सकता है इसका कोई एक व्यक्ति मालिक नहीं है।

Bitcoin कहा से आते है, कैसे बनता है बिटकॉइन[Producing of Bitcoins]-

Bitcoin बनाने के लिए माइनिंग मेथड (mining method) का उपयोग किया जाता है। इस माइनिंग मेथड का उपयोग करने वालों को माइनर्स कहते हैं।

यह माइनिंग मेथड एक बहुत ही जटिल प्रोसेस होती है। जहा माइनर्स (mining mathematical problem) माइनिंग मैथमेटिकल प्रॉब्लम और (cryptographic problems) क्रिप्टो ग्राफिक प्रॉब्लम्स सुलझाते है। प्रॉब्लम्स सुलझाने के बाद माइनर्स को बिटकॉइन ब्लॉक (Block) के रूप में प्राप्त होते हैं। सीमित संख्या में (produce) प्रोडयूस होने के कारण इसकी मांग वृद्धि देखी जा रही है।

बिटकॉइन का उपयोग कैसे करें [how to use Bitcoin] -

Bitcoin का उपयोग हम केवल ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के रूप में कर सकते हैं बिटकॉइन एक डिजिटल करेंसी है। जो की हमारे वॉलेट में रजिस्टर रहती है। यह P2P (Peer to Peer Network) नेटवर्क पर काम करती है। अगर हम किए गए बिटकॉइन ट्रांजैक्शन के बारे में पता करना चाहे तो इसका रिकॉर्ड पब्लिक लेजर में दिखाई देता है।

आजकल बिटकॉइन को ट्रांजैक्शन के लिए सबसे तेज और अच्छा माना जाने लगा है इसका एक फायदा यह भी है कि इसमें किसी थर्ड पार्टी का इंटरफेयर ना होने की वजह से यह एक अच्छा प्लेटफार्म साबित हो रहा है।

बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं [is bitcoin legal in India?] -

जी हां बिटकॉइन इंडिया में पूरी तरह से लीगल है हालाकि इस पर भारत सरकार द्वारा यह साफ कर दिया गया है कि criptocurrency या बिटकॉइन किसी भी तरह से वैध मुद्रा नहीं है। सरकार द्वारा अब तक इस पर कोई कानून नहीं बनाया गया लेकिन सरकार अब भी इस बारे में विचाराधीन है। और जल्द ही इस बारे में बिल (Bill) भी लाया जा सकता है।

Bitcoin price (Bitcoin का Rate) -

अभी एक बिटकॉइन की भारतीय रुपए में कीमत 41 लाख 30 हजार से भी अधिक है। हला की बाज़ार की स्तिथि का असर बिटकॉइन के मूल्य पर भी पड़ता है।
इसके अलावा अब आपके पास सातोशी बिटकॉइन की खरीददारी करने का ऑप्शन भी है। आपको बता दे की 1 बिटकॉइन में 10 करोड़ सातोशी (Satoshi) होते है।

1 bitcoin = 10,00,00,000 Satoshi

How to purchase Bitcoin in india (Bitcoin में Trade कैसे करते हैं?) -

हम में से कोई भी बिटकॉइन की खरीद दारी कर सकते है वो भी भारतीय रुपए के हिसाब से।
बिटकॉइन एक डिजिटल करेंसी इसकी खरीद दारी के लिए हम Wazirx, Unocoin, Zebpay जैसी websites का सहारा ले सकते है।
Wazirx की साइट में जा कर अपना अकाउंट बना कर आप अपनी खरीददारी शुरू कर सकते है।

बिटकॉइन एक्सचेंज और ट्रेडिंग( Bitcoin Exchange Or Trading ) -

2011 से बिटकॉइन ट्रेडिंग की शुरुआत हुई इसके लिए पहले आपको एक अकाउंट बनाने की जरूरत होगी अकाउंट वेरिफाई करने के बाद आप cart ऑप्शन में जा कर इसकी प्राइस हिस्ट्री देख सकते है और करंट प्राइस भी पता कर सकते है।

बिटकॉइन इन्वेस्टमेंट कितना सफे है? -

बिटकॉइन सबसे ज्यादा प्रचलित डिजिटल करंसी जरूर है जो कभी कभी कई गुना मुनाफा दे देती है लेकिन इसके कुछ अपने रिस्क (Risk) भी है अगर आप अपना अकाउंट पासवर्ड भूल जाते है तो यह बात आपके ले एक मुसीबत से कम नहीं होगी। इस पर किसी का कंट्रोल ना होने के कारण भी इसकी कीमत में अचानक बड़े बदलाव (कमी या उछाल) देखने को मिल जाते है।

बिटकॉइन क्या है किसने बनाया और कैसे खरीदें | Bitcoin In Hindi

Bitcoin Kya Hai In Hindi: बिटकॉइन का नाम तो आप लोगों ने जरुर सुना होगा, क्योंकि आज के समय में यह Crptocurrency बहुत चर्चा में है इसलिए सभी लोग बिटकॉइन के बारे में जानना चाहते हैं. बिटकॉइन या टेक्नोलॉजी में रूचि रखने वाले लोग अक्सर इंटरनेट पर सर्च करते हैं कि Bitcoin क्या होता है.

अगर आपको भी बिटकॉइन के बारे में जानना है तो यह लेख आपके लिए ही है. हमने इस लेख के द्वारा कोशिस की है कि आपको बिटकॉइन के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करा सकें.

इस लेख में आपको जानने को मिलेगा कि Bitcoin क्या है इन हिंदी, बिटकॉइन का आविष्कार किसने किया, बिटकॉइन का उपयोग कहाँ किया जाता है, आप कैसे एक बिटकॉइन खरीद सकते हैं, बिटकॉइन के फायदे और नुकसान क्या हैं और क्या भारत में बिटकॉइन लीगल है.

हमें पूरी उम्मीद है कि इस लेख में आपके बिटकॉइन से सम्बंधित अनेक सारे Confusion दूर हो जायेंगे, लेकिन उसके लिए आपको इस लेख को पूरा पढना होगा. तो चलिए शुरू करते हैं आज का यह लेख और जानते हैं बिटकॉइन क्या होता है विस्तार से.

बिटकॉइन क्या है? | जाने 1 बिटकॉइन भारतीय मूल्य में कितने रुपयों का है | बिटकॉइन के फायदे और नुकसान | What is Bitcoins in hindi

आजकल के कंप्यूटर वाले दौर में इसका उपयोग बहुत ही तेजी से बढ़ रहा है। लोग या कंपनी अपनी सेवा के बदले भी बिटकॉइन स्वीकार कर रही हैं और बिटकॉइन के साथ खरीदारी भी की जाने लगी है।
Microsoft और Tesla जैसी विश्व की कुछ दिग्गज कंपनियां भी बिटकॉइन के साथ लेनदेन की शुरुआत कर चुकी हैं।

बिट कॉइन क्या है? (Bitcoin kya hai) -

Bitcoin के बारे में आपने सुना ही होगा बिटकॉइन Crypto Currency का एक रूप है।
लैटिन भाषा का शब्द Crypto जिसका मतलब होता है छुपा हुआ और करेंसी का मतलब है मुद्रा, कुल मिलाकर इसका अर्थ होता है छुपी हुई मुद्रा वर्तमान समय में इस शब्द का प्रयोग बिटकॉइन जैसी डिजिटल करेंसी के लिए किया जा रहा है।


बिटकॉइन पूरी तरह से एक पहली (विकेंद्रीकृत) डिसेंट्रलाइज्ड मुद्रा है जो किसी भी सेंट्रलाइज्ड बैंक द्वारा संचालित नहीं की जा रही है। इसका संचालन पूरी तरह से डिजिटल है जोकि Crypto Graphy Technique एवं हाई स्पीड कंप्यूटर नेटवर्क्स की सहायता द्वारा किया जाता है। क्रिप्टोग्राफी शब्द का अर्थ कोडिंग लैंग्वेज को क्रैक या सुलझाने की कला से है। जो कि बाइनरी (Binary) या 0 और 1 के form में होती है। इस पर विश्व के किसी भी देश या बैंक का कोई भी हस्तक्षेप नहीं है।

बिटकॉइन के संपूर्ण लेन देन व रख रखाव का (data) डाटा Block Chain Technique (ब्लाक चैन टेक्नीक) तकनीक द्वारा रखा जाता है। इसका मतलब है कि (Bitcoin) बिटकॉइन के valid यूजर द्वारा किए गए किसी भी प्रकार के लेनदेन को ब्लॉकचेन पर सीक्वेंसली रिकॉर्ड किया जाता है।

जैसा कि अब हम सभी जान चुके हैं कि बिटकॉइन एक वर्चुअल करंसी है और इससे हम केवल अपने वर्चुअल वॉलेट में रख सकते हैं या प्राप्त कर सकते हैं। यह एक सेक्योर वर्चुअल वॉलेट होता है।

बिटकॉइन का आविष्कार किसने किया -

बिटकॉइन सन 2008 में (Satoshi Nakamoto) सातोशी नाका मोटो द्वारा बनाया गया था। लेकिन इसे ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के माध्यम से सन 2009 में लांच किया गया था।

बिटकॉइन का मालिक कौन है। -

Bitcoin का यूज कोई भी कर सकता है इसका कोई एक व्यक्ति मालिक नहीं है।

Bitcoin कहा से आते है, कैसे बनता है बिटकॉइन[Producing of Bitcoins]-

Bitcoin बनाने के लिए माइनिंग मेथड (mining method) का उपयोग किया जाता है। इस माइनिंग मेथड का उपयोग करने वालों को माइनर्स कहते हैं।

यह माइनिंग मेथड एक बहुत ही जटिल प्रोसेस होती है। जहा माइनर्स (mining mathematical problem) माइनिंग मैथमेटिकल प्रॉब्लम और (cryptographic problems) क्रिप्टो ग्राफिक प्रॉब्लम्स सुलझाते है। प्रॉब्लम्स सुलझाने के बाद माइनर्स को बिटकॉइन ब्लॉक (Block) के रूप में प्राप्त होते हैं। सीमित संख्या में (produce) प्रोडयूस होने के कारण इसकी मांग वृद्धि देखी जा रही है।

बिटकॉइन का उपयोग कैसे करें [how to use Bitcoin] -

Bitcoin का उपयोग हम केवल ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के रूप में कर सकते हैं बिटकॉइन एक डिजिटल करेंसी है। जो की हमारे वॉलेट में रजिस्टर रहती है। यह P2P (Peer to Peer Network) नेटवर्क पर काम करती है। अगर हम किए गए बिटकॉइन ट्रांजैक्शन के बारे में पता करना चाहे तो इसका रिकॉर्ड पब्लिक लेजर में दिखाई देता है।

आजकल बिटकॉइन को ट्रांजैक्शन के लिए सबसे तेज और अच्छा माना जाने लगा है इसका एक फायदा यह भी है कि इसमें किसी थर्ड पार्टी का इंटरफेयर ना होने की वजह से यह एक अच्छा प्लेटफार्म साबित हो रहा है।

बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं [is bitcoin legal in India?] -

जी हां बिटकॉइन इंडिया में पूरी तरह से लीगल है हालाकि इस पर भारत सरकार द्वारा यह साफ कर दिया गया है कि criptocurrency या बिटकॉइन किसी भी तरह से वैध मुद्रा नहीं है। सरकार द्वारा अब तक इस पर कोई कानून नहीं बनाया गया लेकिन सरकार अब भी इस बारे में विचाराधीन है। और जल्द ही इस बारे में बिल (Bill) भी लाया जा सकता है।

Bitcoin price (Bitcoin का Rate) -

अभी एक बिटकॉइन की भारतीय रुपए में कीमत 41 लाख 30 हजार से भी अधिक है। हला की बाज़ार की स्तिथि का असर बिटकॉइन के मूल्य पर भी पड़ता है।
इसके अलावा अब आपके पास सातोशी बिटकॉइन की खरीददारी करने का ऑप्शन भी है। आपको बता दे की 1 बिटकॉइन में 10 बिटकॉइन से होने वाले फायदे करोड़ सातोशी (Satoshi) होते है।

1 bitcoin = 10,00,00,000 Satoshi

How to purchase Bitcoin in india (Bitcoin में Trade कैसे करते हैं?) -

हम में से कोई भी बिटकॉइन की खरीद दारी कर सकते है वो भी भारतीय रुपए के हिसाब से।
बिटकॉइन एक डिजिटल करेंसी इसकी खरीद दारी के लिए हम Wazirx, Unocoin, Zebpay जैसी websites का सहारा ले सकते है।
Wazirx की साइट में जा कर अपना अकाउंट बना कर आप अपनी खरीददारी शुरू कर सकते है।

बिटकॉइन एक्सचेंज और ट्रेडिंग( Bitcoin Exchange Or Trading ) -

2011 से बिटकॉइन ट्रेडिंग की शुरुआत हुई इसके लिए पहले आपको एक अकाउंट बनाने की जरूरत होगी अकाउंट वेरिफाई करने के बाद आप cart ऑप्शन में जा कर इसकी प्राइस हिस्ट्री देख सकते है और करंट प्राइस भी पता कर सकते है।

बिटकॉइन इन्वेस्टमेंट कितना सफे है? -

बिटकॉइन सबसे ज्यादा प्रचलित डिजिटल करंसी जरूर है जो कभी कभी कई गुना मुनाफा दे देती है लेकिन इसके कुछ अपने रिस्क (Risk) भी है अगर आप अपना अकाउंट पासवर्ड भूल जाते है तो यह बात आपके ले एक मुसीबत से कम नहीं होगी। इस पर किसी का कंट्रोल ना होने के कारण भी इसकी कीमत में अचानक बड़े बदलाव (कमी या उछाल) देखने को मिल जाते है।

Bitcoin [BTC] धारक घाटे में बेचते हैं, लेकिन यहाँ पकड़ है

Bitcoin [BTC] holders sell at a loss, but here's the catch

नवंबर 2020 के बाद पहली बार किंग कॉइन ने $15,800 के बिटकॉइन से होने वाले फायदे मूल्य स्तर पर कारोबार किया। प्रेस समय के अनुसार $15,773.03 में बेचने के लिए रिबाउंडिंग से पहले बीटीसी ने $15,608 के रूप में कम के लिए हाथों का आदान-प्रदान किया, डेटा से कॉइनमार्केट कैप दिखाया है।

कीमत में गिरावट ने कई व्यापारियों को बाजार से बाहर निकलने या अपने बीटीसी होल्डिंग्स को अलग करने के लिए प्रेरित किया। ऑन-चेन एनालिटिक्स प्लेटफॉर्म के अनुसार भावनाअपने निवेश से जो बचा था उसे बचाने के लिए, कई बीटीसी धारकों ने अपने सिक्कों को नुकसान में वितरित किया, जिससे सिक्का पिछले तीन वर्षों में सबसे अधिक नुकसान की गति में प्रवेश कर गया।

के आंकड़ों के अनुसार सिक्का क्रिप्टोक्यूरेंसी बाजार में पिछले 24 घंटों में कुल $110.54 मिलियन का परिसमापन हुआ, जिसमें 36,787 व्यापारियों का परिसमापन हुआ। $ 46 मिलियन के बीटीसी परिसमापन का बाजार से निकाले गए कुल रकम का 42% हिस्सा है।

नवंबर 2019 के बाद से चेन पर होने वाले लाभ और हानि के अनुपात में बीटीसी का लाभ सबसे कम लाभ दर्ज किया गया।

क्या वह मौजूदा बाजार में चलेगा?

बीटीसी के बारे में कोई भी निश्चित नहीं हो सकता है

क्रिप्टोक्वांट विश्लेषक के अनुसार कॉइनलूपिन , पिछले कुछ दिनों में छह से 12 मिलियन बीटीसी धारकों का एक्सचेंज इनफ्लो शेयर बढ़ा है। लेकिन, दुर्भाग्य से, अतीत में जब भी ऐसा हुआ बीटीसी की कीमत में गिरावट दर्ज की गई।

इसके अलावा, कॉइनलूपिन ने पाया कि बीटीसी का समायोजित खर्च आउटपुट लाभ अनुपात (एएसओपीआर) “अतीत में स्थानीय तल के स्तर के समान था, और कई लोग इसे नुकसान में बेच रहे हैं।”

इसके प्रभाव पर टिप्पणी करते हुए, कॉइनलूपिन ने कहा,

“यह संकेत दे सकता है कि बाजार प्रतिभागी अपने आत्मसमर्पण के करीब हैं। हम इन्हें उन वर्गों के रूप में देख सकते हैं जो अल्पावधि में खतरनाक हैं लेकिन दीर्घावधि में एक अवसर हो सकते हैं।

मंदी के मैक्रो कारकों और सकारात्मक भावना की कमी से चिह्नित बाजार के साथ, प्रेस समय में, बीटीसी बाजार को छोटे व्यापारियों द्वारा तबाह कर दिया गया था। क्रिप्टोक्वांट के आंकड़ों के अनुसार, प्रेस समय में प्रमुख कॉइन की फंडिंग दरों ने -0.0086 का नकारात्मक मूल्य पोस्ट किया। इससे पता चलता है कि मौजूदा बाजार में ज्यादातर ट्रेडर्स कीमतों में और गिरावट पर दांव लगाते हैं।

Bitcoin kya hai बिटकॉइन क्या है ? इसे कैसे खरीदे ?

Bitcoin kya hai (What is Bitcoin in hindi) : बिटकॉइन इस समय निवेश की दुनिया का बादशाह बना हुआ है। इस समय ये दुनिया की सबसे महँगी करेंसी है। आइये जानते हैं कि Bitcoin kya hai (What is Bitcoin in hindi). Bitcoin kaise kaam karta hai. निवेश की दुनिया में इसकी कीमत लगातार क्यों बढ़ रही ? आइये जानते है कि Bitcoin kya hota hai इस बारे में और अधिक विस्तार से जानते हैं।

Bitcoin ही एक ऐसी करेंसी हो ज्यादातर लोगों को Cryptocurrency की दुनिया में खींच रही है। Bitcoin कई देशों में पूर्ण रूप से मान्य है लेकिन कुछ देशों में ये अभी गैर कानूनी है। जापान ने इसे ‘वैध’ दर्जा दिया हुआ है।

Bitcoin Kya hai

Table of Contents

बिटकॉइन क्या होता है ? What is Bitcoin in hindi

Bitcoin kya hai : Bitcoin एक डिजिटल करेंसी है। ये भी अन्य currencies जैसे Rupees, Dollar, Euro आदि की तरह है। लेकिन फिर भी ये उन currencies के मुक़ाबले अलग है। क्यूंकि Rupees, Dollar, Euro आदि को हम online और Offline दोनों तरीकों से इस्तेमाल कर बिटकॉइन से होने वाले फायदे सकते हैं। लेकिन Bitcoin के साथ ऐसा नहीं है। इसे आप सिर्फ Online ही इस्तेमाल कर सकते है। क्यूंकि Bitcoin को ना तो हम देख सकते हैं, ना ही हम उसे अन्य currencies जैसे की तरह छू सकते हैं। इसलिए ये सिर्फ डिजिटल करेंसी की श्रेणी में आता है। जो Cryptocurrency कहलाती है।

बिटकॉइन की शुरुआत कब हुई थी ? Bitcoin invetion

बिटकॉइन का आविष्कार 2008 में सतोषी नाकामोटो द्वारा किया गया था। और फिर 2009 में उन्होंने इसे ओपन-सोर्स सॉफ़्टवेयर के रूप में जारी किया था। पहला बिटकॉइन लेनदेन जनवरी 2009 में शुरू हुआ था। शुरुआती वर्षों में बिटकॉइन में तेजी बहुत धीरे-धीरे हुई थी। 2015 से बिटकॉइन में बड़ी तेजी देखने को मिली। फिर बहुत जल्द ही ये दुनिया की नजरों में आने लगा। इस समय बिटकॉइन की कीमत 34,23,652 रुपये है।

कैसे होता है लेन-देन Bitcoin me transaction kaise hota hai

बिटकॉइन एक प्रकार की आभासी मुद्रा है। जिसका इस्तेमाल आप केवल online लेन-देन में ही कर सकते हैं। इस प्रकार होने वाले भुगतान डेबिट या क्रेडिट कार्ड के माध्यम से होने वाले भुगतान से बिलकुल अलग है।

भारत में केंद्रीय बैंक इस मुद्रा का समर्थन नहीं करता है इसलिए इस मुद्रा का विनिमय निजी तौर होता है। जिसे ‘माइनिंग’ नामक प्रक्रिया के माध्यम उत्पादित किया जाता है। इस प्रक्रिया के लिए एक विशेष किस्म के सॉफ्टवेयर की जरूरत होती है।

बिटकॉइन का लेन-देन एक ई-वॉलेट से दूसरे ई-वॉलेट के जरिये होता है। जो आपके निजी डेटाबेस में उपलब्ध होते हैं। बिटकॉइन का लेन-देन का रिकॉर्ड एक Public Account में रहता हैं, जिसे “Blockchain” कहते। हैं

बिटकॉइन के क्या फायदे हैं ? Bitcoin ke kya fayade hai

1. Bitcoin को आप किसी भी मुद्रा में खरीद सकते हैं।

2. Bitcoin का लेन-देन आप पूरी दुनिया में कहीं भी और कभी कर सकते हैं।

3. Bitcoin भेजने में शुल्क लगता हैं वो Debit card और Credit card के मुकाबले बहुत ही कम होता हैं।

4. Bitcoin ने साल 2020 में 302% रिटर्न दिया है। इस हिसाब से ये निवेश के लिए एक अच्छा साधन हो सकता है!

5. Bitcoin का मार्किट 24×7 खुला रहता है। जिसमे आप कभी भी निवेश कर सकते हैं।

Bitcoin kya hota hai Bitcoin kaise kaam karta hai

बिटकॉइन के क्या नुकसान हैं ? Bitcoin ke kya बिटकॉइन से होने वाले फायदे nuksan hai

1. Bitcoin को अभी भारत में पूरी तरह से authority नहीं मिली है। अगर किसी कारणवश आपका अकाउंट हैक हो जाता है, तो आप इसकी शिकायत कहीं नहीं कर सकते।

2. Bitcoin को भारत में पूर्ण authority नहीं मिलने के कारण ये कभी बैन भी हो सकता है।

3. Bitcoin मार्किट जिस स्पीड से ऊपर जाता है तो कभी उसी स्पीड से नीचे भी गिरता है। जो आपके लिए नुकसान साबित हो सकता है।

बिटकॉइन कहाँ से और कैसे खरीदें? Bitcoin kaise khareede

आप Bitcoin बहुत ही आसानी से खरीद सकते है। इसे आप भारतीय मुद्रा (रुपए) में भी खरीद सकते हैं। इस समय भारत में कुछ websites उपलब्ध हैं, जिनके जरिये आप बिटकॉइन खरीद सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आप को उन websites या App पर Register करना होता है। उसके बाद आपको websites या App के Wallet में रुपये Add करने होंगे। फिर आप Bitcoin की खरीददारी कर सकते हैं।

दोस्तों, आज की पोस्ट “Bitcoin Kya Hai” में आपने Bitcoin के बारे में जाना। आपने Bitcoin की समस्त जानकारी विस्तारित रूप में समझी। Bitcoin भारत में वैध है या अवैध है ये भी जाना। साथ ही ये भी जाना कि आप Bitcoin को कैसे और कहाँ से खरीद सकते है ? इसके अलावा Bitcoin kaise kaam karta hai? इसके क्या फायदे और नुकसान है ? आपको ये पोस्ट कैसी लगी हमें आपने विचार हमारे साथ अवश्य साझा करें।

रेटिंग: 4.61
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 486