अवैध ऐप्स की लंबी सूची में ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म OctaFX भी शामिल है जो इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) टीम दिल्ली कैपिटल्स का आधिकारिक ट्रेडिंग sponsor है

शेयर मार्केट क्या है सीखें और पैसे कमाए – What Is Share Market In Hindi

गैर कानूनी ट्रेडिंग अप्लीकेशन l Unlegal Trading Application in India

चलिए अब जानते हैं गैर कानूनी ट्रेडिंग अप्लीकेशन के लिए बनाया गया नया कानून किया है और इसके फायदे किया है

आज के समय में हर दिन बहुत सारे लोग फॉरेक्स ट्रेडिंग के जरिए पैसे कमाने के चकर में fraud के शिकार हो रहे हैं असल में फॉरेक्स ट्रेडिंग कंपनीया विज्ञापन में दिखाती है कैसे बहुत सारे लोग हर दिन फॉरेक्स ट्रेडिंग के जरिए घर बैठे लाखों रुपए कमा रहे हैं

लेकिन असल में फॉरेक्स ट्रेडिंग के जरिए ना तो कोई भी व्यक्ति लाखों रुपए कमा रहा है और ना ही कोई भी व्यक्ति आज तक अमीर हुआ है

लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है के आप ट्रेडिंग के जरिए पैसे कमा नही सकते हैं आप ट्रेडिंग के जरिए पैसा कमा सकते हैं लेकिन इसके लिए आपके पास लीगल ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म होना बहुत जरूरी है

प्ले स्टोर पर ऐसी बहुत सारी unlegal Trading App मोजूद है जो हर किसी को जल्द से जल्द अमीर बना देने का दावा करते है और जिन लोगों को सही जानकारी नहीं होती है वह लोग इन अप्लीकेशन का प्रयोग करना शुरू कर देते हैं

शेयर मार्केट क्या है सीखें और पैसे कमाए – What Is Share Market In Hindi

Share Market In Hindi: बिना निवेश किए पैसे कमाना थोड़ा मुश्किल है पर शेयर बाजार में निवेश कर पैसे कमाना आसान है.

आज हर कोई व्यक्ति एक खुशहाल जीवन जीने के लिए बहुत पैसे कमाना चाहता है जिसके लिए वह नौकरी में कड़ी मेहनत भी करता है, लेकिन नौकरी में कड़ी मेहनत करने के बाद भी वह एक खुशहाल जीवन जीने के लिए पर्याप्त पैसे नहीं कमा पाता है.

लेकिन शेयर बाजार पैसों का एक ऐसा कुआ है जो सारे देश की प्यास बुझा सकता है. जिन लोगों को शेयर बाजार की अच्छी समझ होती है वह शेयर बाजार से करोड़ों रूपये की कमाई करते हैं.

अगर आप भी जानना चाहते हैं कि Share Market क्या है, शेयर मार्केट कैसे सीखें, शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगायें और शेयर मार्केट से पैसा कैसे कमाए तो इस लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें. इस लेख में हमने आपको इन सब के अतिरिक्त शेयर मार्केट का गणित और शेयर मार्केट से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण शब्दों के बारे में बताया है जिससे कि आपको शेयर बाजार के बारे में अच्छी समझ मिले.

Zerodha के फाउंडर नितिन कामथ और निखिल कामथ बने 40 वर्ष से कम उम्र से सबसे धनी सेल्फ मेड इंडियन बिजनेसमैन

ट्रेड वॉल्यूम के मामले में देश की सबसे बड़ी स्टॉक ब्रोकरेज कंपनी जेरोधा (Zerodha) के को-फाउंडर नितिन कामथ (Nithin Kamath) और निखिल कामथ (Nikhil Kamath) ने आईआईएफएल वेल्थ हुरुन इंडिया 40 एंड सेल्फ मेड रिच लिस्ट, 2020 (IIFL Wealth Hurun India 40 & under Self-Made Rich List 2020) में पहले पायदान पर अपनी जगह बनाई है। ये दोनों भाई देश में 40 साल से कम उम्र के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। इनकी कुल संपत्ति 24 हजार करोड़ रुपये से अधिक है। आपको बता दें कि IIFL Wealth Hurun India 40 की लिस्ट में ऐसे उद्योगपतियों को शामिल किया जाता है जो सेल्फ मेड हैं यानी जिन्हें बिजनेस विरासत में नहीं मिली है, साथ ही जिनका संपत्ति 1000 करोड़ रुपये से अधिक है। मंगलवार को जारी इस लिस्ट में टॉप पर कामथ ब्रदर्स हैं।

कौन काटता चांदी, किनका होता डब्बा गोल!

अगर आप शेयरों की ट्रेडिंग में दिलचस्पी रखते हैं तो डब्बा ट्रेडिंग का नाम ज़रूर सुना होगा। हर गैर-कानूनी काम की तरह यह भी हल्के-फुल्के मुंगेरीलाल टाइप लोगों को खूब खींचता है। कोई लिखा-पढ़ी नहीं, रिकॉर्ड नहीं, सारा लेनदेन कैश में, सारी कमाई काली। फिर इनकम टैक्स देने या रिटर्न भरने का सवाल ही नहीं। सारे सौदे स्टॉक एक्सचेंज के बाहर होते हैं तो सिक्यूरिटी ट्रांजैक्शन का सवाल ही नहीं उठता। साथ ही कोई दिक्कत आने या ठगे जाने पर एक्सचेंज या ट्रेडिंग स्टॉक केवल अमीर लोगों के लिए नहीं है थाना-पुलिस से इसमें भाग लेनेवालों को कोई मदद नहीं मिल सकती। भारत सरकार ने डब्बा ट्रेडिंग को न तो मान्यता दे रखी है, न ही किसी रूप में इसे बढ़ावा देती है। लेकिन दशकों से यह धंधा इंदौर से लेकर सूरत, लुधियाना, कानपुर व रांची जैसे छोटे शहरों में बराबर चल रहा है।

जब हमारे स्टॉक एक्सचेंजों में इंट्रा-डे से लेकर डेरिवेटिव ट्रेडिंग तक की पूरी सहूलियत है, तब आखिर लोगबाग डब्बा ट्रेडिंग जैसे गलत व गैर-कानूनी काम करते ही क्यों हैं? इसके कुछ बड़े साफ कारण हैं। पहला तो यह कि डब्बा ट्रेडिंग करानेवाला ऑपरेटर गैरकानूनी ट्रेडिंग कर रहा है तो वह ट्रेड करनेवालों से कोई स्पैन मार्जिन, मार्क टू मार्केट रकम वगैरह नहीं लेता, न ले सकता है। वो बहुत हुआ तो लोगों ने मोटामोटी सांकेतिक या. टोकन सिक्यूरिटी डिपॉजिट ले लेता है और उन्हें जैसा चाहें, वैसा ट्रेड करने का मौका दे देता है। ट्रेड एक्सचेंज के बाहर होता है तो एसटीटी या किसी भी तरह का कोई दूसरा टैक्स वगैरह नहीं लगता। इसलिए थोड़ा पैसा बचाने और ज्यादा कमाने की लालच में आकर लोगबाग फंस जाते और उलझते जाते हैं।

Rakesh Jhunjhunwala जैसा Portfolio बनाना है तो जान लें ये 5 सीक्रेट, बन जाएंगे Stock Market के बादशाह

Alok Kumar

Edited By: Alok Kumar @alocksone
Updated on: August 24, 2022 10:59 IST

Rakesh Jhunjhunwala जैसा Portfolio - India TV Hindi

Photo:INDIA TV Rakesh Jhunjhunwala जैसा Portfolio

Rakesh Jhunjhunwala अब इस दुनिया में नहीं रहें लेकिन आज भी देश और विदेश के लाखों लोग जो शेयर मार्केट में निवेश करते हैं, उन्हें अपना आदर्श मानते हैं। इसकी वजह यह है कि राकेश झुनझुनवाला ने शेयर मार्केट में निवेश की शुरुआत सिर्फ 5000 रुपये से की थी। लेकिन उन्होंने अपने 37 साल के निवेश कैरियर में अपार दौलत कमाई। 14 अगस्त, 2022 को 62 साल की उम्र में राकेश झुनझुनवाला का निधन हो गया। हालांकि, वे अपने पीछे करीब 45 हजार करोड़ की संपत्ति छोड़ गए हैं। ऐसे में हर एक निवेशक राकेश झुनझुनवाला जैसा पोर्टफोलियो बनाना चाहता है। अगर, आप भी मार्केट में निवेश करते हैं तो हम आपको बिल बुल के नाम से जाने वाले राकेश झुनझुनवाला के Portfolio 5 सीक्रेट बता रहे हैं। इनको फॉलो कर आप भी मार्केट के बादशाह बन सकते हैं।

1. मार्केट में अपना रास्ता खुद बनाना होगा

राकेश झुनझुनवाला से पहली सीख मिलती है कि आपको शेयर मार्केट में अपना रास्ता खुद बनना होगा। किसी और की नकल करके कभी भी आप स्टॉक मार्केट के जरिये अमीर नहीं हुआ। वारेन बफेट इसे आपकी क्षमता का चक्र कहते हैं। इसका मतलब है कि आपको केवल उन्हीं व्यवसायों में निवेश करना चाहिए जिन्हें आप समझते हैं। उदाहरण के लिए, झुनझुनवाला गेमिंग व्यवसाय को समझते थे। यही कारण है कि उन्होंने नाज़ारा टेक में निवेश किया। लेकिन बहुत से लोग इस बिजनेस मॉडल को नहीं समझ सकते हैं और यह ठीक है। लंबी अवधि के धन सृजन की कुंजी अच्छी गुणवत्ता वाले कंपनियों के शेयर को खरीदना और उन्हें अपने पास रखना है। झुनझुनवाला के पास 20 साल तक टाइटन का शेयर था। आप ऐसा तभी कर सकते हैं जब आपको व्यवसाय और प्रबंधन में बहुत अधिक विश्वास हो।

राकेश झुनझुनवाला हमेशा लंबी अवधि की सोच कर किसी शेयर में निवेश करते थे। उन्होंने सबसे अधिक कमाई लंबी अविध के निवेश से किया। झुनझुनवाला जैसा पोर्टफोलियो बनाने की कोशिश करते समय यह महत्वपूर्ण है कि आप लंबी अविध की सोच रखें। कई बार आप शॉर्ट टर्म निवेश कर सकते हैं और वे अच्छा मुनाफा दे सकते हैं। लेकिन अगर आप अमीर बनना चाहते हैं, तो लंबी अवधि के निवेश का रास्ता ही ट्रेडिंग स्टॉक केवल अमीर लोगों के लिए नहीं है चुनें।

3. सही अवसर पर बड़ा दांव लगाएं

जब वैश्विक वित्तीय संकट आया, तो टाटा मोटर्स का स्टॉक क्रैश हो गया था। निवेशकों को जेएलआर में निवेश सही नहीं लग रहा था। कोरस में टाटा स्टील का निवेश पहले से ही डंप में था और निवेशकों ने सोचा ट्रेडिंग स्टॉक केवल अमीर लोगों के लिए नहीं है टाटा मोटर्स का भी ऐसा ही हश्र होगा। हालांकि, निवेशकों के लिए बड़ी संख्या में स्टॉक खरीदने का यह एक शानदार अवसर था और झुनझुनवाला ने यही किया। टाटा मोटर्स ने झुनझुनवाला को करोड़ों की कमाई कराई। अगर आप शेयर बाजार में निवेश करते हैं और कोई कंपनी किसी कारण से संकट में है लेकिन आपको भरोसा है कि वह लंबी अवधि में अच्छा प्रदर्शन करेती तो उसके शेयर में निवेश करने से चुके नहीं।

Rakesh Jhunjhunwala

Image Source : INDIA TV

4. भारत में विकास पर भरोसा रखें

राकेश झुनझुनवाला को भारत का वारेन बफेट क्यों कहा जाता था? इसका एक बड़ा कारण यह था कि जिसे उन्होंने साझा किया था कि उन्हें अपने देश के विकास पर पूरा भरोसा था। वे आश्वस्त थे कि अगला (और सबसे बड़ा) बुल मार्केट भारत में आने ही वाला है। उन्होंने यकीन था कि भारत चुनौतियों के बावजूद अच्छा प्रदर्शन करेगा। वह कहते थे कि भारत का 25 साल में अर्थव्यवस्था चीन से आगे निकल जाएगी। बहुत से लोग उस पर विश्वास नहीं करते थे या सहमत नहीं थे। उनकी सफलता में यह बहुत बड़ा कारण था। उनका विश्वास ही उनको बिग बुल बनाने का रास्ता खोला।

राकेश झुनझुनवाला ने स्टाॅक मार्केट में निवेश की शुरुआत सिर्फ 5000 रुपये से की थी। इसी निवेश को उन्होंने मल्टीपल कर 45 हजार करोड़ की संपत्ति बनाई। हालांकि, उन्होंने कभी भी कर्ज लेकर किसी शेयर में निवेश नहीं किया। वो हमेशा सलाह देते थे कि कर्ज लेकर कभी भी बाजार में निवेश न करें।

रेटिंग: 4.53
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 758