Additional Information

कार्यशील पूंजी

बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र कभी भी फोन कॉल/ई-मेल/एसएमएस के माध्‍यम से किसी भी उद्देश्‍य हेतु बैंक खाते के ब्‍यौरे नहीं मांगता।
बैंक सभी ग्राहकों से अपील करता है कि ऐसे किसी भी फोन कॉल/ई-मेल/एसएमएस का उत्‍तर न दें, और किसी से भी, किसी भी उद्देश्‍य हेतु अपने बैंक खाते के ब्‍यौरे साझा न करें। किसी से भी अपने डेबिट/क्रेडिट कार्ड का सीवीवी/पिन साझा न करें।

कार्यशील पूंजी मैनेजमेंट क्या है

कार्यशील पूंजी प्रबंधन कंपनी के प्रभावी ऑपरेशन के लिए बिज़नेस की वर्तमान एसेट और लायबिलिटी का सर्वश्रेष्ठ उपयोग सुनिश्चित करता है. कार्यशील पूंजी का प्रबंधन करने का मुख्य उद्देश्य किसी कंपनी पूंजी प्रबंधन की विधि की पर्याप्त नकद प्रवाह बनाए रखने और अल्पकालिक बिज़नेस लक्ष्यों पूंजी प्रबंधन की विधि को पूरा करने के लिए देयताओं की निगरानी करना है. यह योजनाबद्ध और अनियोजित खर्चों को संबोधित करने में मदद करता है और लिक्विडिटी बनाए रखकर बिज़नेस की क्षमता का निर्धारण करता है.

कार्यशील पूंजी मैनेजमेंट का महत्व

एक बिज़नेस को दैनिक ऑपरेशन के लिए पर्याप्त कैश फ्लो की आवश्यकता होती है जैसे कि भुगतान करना, कच्चे माल खरीदना या अप्रत्याशित खर्चों का प्रबंधन. कार्यशील पूंजी इन आवश्यकताओं को पूरा करने और कंपनी के फाइनेंशियल हेल्थ के रिपोर्ट कार्ड के रूप में कार्य करने में मदद करती है.

उचित कार्यशील पूंजी प्रबंधन बिज़नेस को आसानी से संचालित करने और अपनी आय में सुधार करने की अनुमति देता है. इसमें रुटीन ऑपरेशन के लिए पर्याप्त कैश उपलब्ध कराने के लिए इन्वेंटरी, अकाउंट रिसीवेबल्स और देय चीजों का उपयुक्त प्रबंधन शामिल है. यह न केवल बिज़नेस को अपने फाइनेंशियल दायित्वों को पूरा करने में मदद करता है बल्कि उनकी कमाई को भी बढ़ाता है. इसके अलावा, यह उन क्षेत्रों की पहचान करने में मदद करता है जिनमें लाभ और लिक्विडिटी बनाए रखने के लिए ध्यान देने की आवश्यकता होती है.

पूंजी प्रबंधन की विधि

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूंजी प्रबंधन की विधि पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

We'd love to hear from you

We are always available to address the needs of our users.
+91-9606800800

किस विधि में हम पूंजी निवेश के प्रतिशत के रूप में शुद्ध वार्षिक प्रतिफल की गणना कर सकते हैं।

Additional Information

शुद्ध वर्तमान मूल्य (NPV):

यह प्रारंभिक पूंजी निवेश सहित, एक परियोजना द्वारा उत्पन्न भविष्य के सभी नकदी प्रवाह के वर्तमान मूल्य को निर्धारित करने के लिए उपयोग की जाने वाली विधि है। यह बड़े पैमाने पर पूंजी आय - व्ययक में उपयोग किया जाता है ताकि यह स्थापित किया जा सके कि किन परियोजनाओं में सबसे अधिक लाभ होने की संभावना है।

R t = शुद्ध वर्तमान मूल्य

R पूंजी प्रबंधन की विधि t = समय t पर शुद्ध नकदी प्रवाह

t = नकदी प्रवाह का समय

लागत लाभ विश्लेषण (CBA): यह एक आम मीट्रिक (सबसे अधिक मौद्रिक इकाइयों) का उपयोग करके किसी प्रोग्राम प्रोजेक्ट की कुल लागत की तुलना अपने लाभों के साथ करने के लिए किया जाता है।

पूंजी प्रबंधन की विधि

Swachh Bharat Mission increbleindia Swachh Bharat

भारत पर्यटन विकास निगम अक्‍टूबर, 1966 में अस्‍तित्‍व में आया और इसने देश में पर्यटन के उत्‍तरोत्‍तर विकास, संवर्धन और विस्‍तार में प्रमुख भूमिका निभाई है । व्‍यापक रूप से निगम के मुख्‍य उद्देश्‍य निम्‍न प्रकार हैं :-

  • होटलों का निर्माण, वर्तमान होटलों का अधिग्रहण और प्रबंध तथा होटलों, तट विहारों, ट्रैवल्‍स लॉज/रेस्‍टोरेंटों का विपणन
  • परिवहन, मनोरंजन, खरीददारी और सम्‍मेलन सेवाएं प्रदान करना
  • पर्यटक प्रचार सामग्री की प्रस्‍तुति एवं वितरण
  • भारत व विदेश में परामर्शी व प्रबंध सेवाएं प्रदान करना
  • संपूर्ण मनी चेंजर्स (एफएफएमसी) प्रतिबंधित मनी चेंजर्स आदि के रूप में व्‍यवसाय करना तथा
  • पर्यटन विकास और इंजीनियरिंग उद्योग, जिसमें परादर्शी सेवाएं देना व परियोजना कार्यान्‍वयन शामिल हैं, की आवश्‍यकताओं के लिए नवीन, विश्‍वसनीय सेवाएं देना तथा पैसे का पूरा मूल्‍य प्रदान करना

निगम की प्राधिकृत पूंजी 75 करोड़ रूपए है और दिनांक 31.03.2015 की स्‍थिति के अनुसार प्रदत्‍त पूंजी 67.52 करोड रू. थी । निगम की प्रदत्‍त साम्‍य पूंजी का 89.9748 प्रतिशत भारत के राष्‍ट्रपति के नाम से रखा गया है ।

निगम पर्यटकों के लिए विभिन्‍न स्‍थानों पर होटल, रेस्‍टोरेंट चला रहा है और साथ ही परिवहन सेवाएं प्रदान कर रहा है । इसके अतिरिक्‍त निगम पर्यटक प्रचार साहित्‍य की प्रस्‍तुति, वितरण एवं बिक्री में कार्यरत है और पर्यटकों को मनोरंजन व शुल्‍क मुक्‍त खरीददारी सुविधाएं प्रदान कर रहा है । निगम ने संपूर्ण मनी चेंजर्स (एफएफएमसी) सेवाओं, इंजीनियरिंग संबंधित परामर्शी सेवाओं आदि नए क्षेत्रों/नवीन सेवाओं में पदार्पण किया है । निगम का अशोक आतिथ्‍य व पर्यटन प्रबंध संस्‍थान पर्यटन व आतिथ्‍य क्षेत्र में प्रशिक्षण एवं शिक्षा प्रदान करता है ।

इस समय भारत पर्यटन विकास निगम के नेटवर्क में अशोक होटल समूह के 8 होटल, 6 संयुक्‍त उद्यम होटल, 2 रेस्‍टोरेंट, (एक एयरपोर्ट रेस्‍टोरेंट सहित) 12 परिवहन एकक,एक पर्यटक सेवा केन्‍द्र, अंतर्राष्‍ट्रीय एवं घरेलू कस्‍टम पूंजी प्रबंधन की विधि एयरपोर्टों पर स्‍थित 37 शुल्‍क मुक्‍त दुकानें, एक कर-मुक्‍त आउटलेट एवं 2 ध्‍वनि व प्रकाश शो शामिल हैं ।

इसके अतिरिक्‍त भारत पर्यटन विकास निगम भरतपुर स्‍थित एक होटल और कोसी स्‍थित एक रेस्‍टोरेंट का प्रबंधन पर्यटन विभाग की ओर से भी कर रहा है । इसके अलावा निगम वैस्‍टर्न कोर्ट, विज्ञान भवन, हैदराबाद हाउस और शास्‍त्री भवन, नई दिल्‍ली में नेशनल मीडिया प्रेस सेंटर में खानपान सेवाओं का प्रबंध भी कर रहा है ।

रेटिंग: 4.49
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 641