Share Bazaar Live: लाल निशान के साथ खुले शेयर बाजार, निफ्टी 17,000, सेंसेक्स 700 अंक से ज्यादा गिरा

हफ्ते के पहले कारोबारी दिन को शेयर बाजार जोरदार टूटे. भारतीय शेयर बाजारों ने लाल निशान के साथ शुरुआत की. बता दें कि शुक्रवार के ट्रेडिंग सेशन में ग्लोबल बाजारों से कमजोरी संकेत मिले, जिसके बाद भारतीय शेयर बाजार तेजी से टूटे हैं. सोमवार के ट्रेडिंग सेशन के दिन ओपनिंग के दौरान सेंसेक्स 710.77 अंक की गिरावट के साथ 56,486.38 के लेवल पर टूटा. वहीं निफ्टी 50 इंडेक्स 226.20 प्वाइंट की गिरावट के साथ 17,000 के लेवल के नीचे खुला. आज के ट्रेडिंग सेशन के दौरान शेयर बाजार में 737 शेयरों में खरीदारी देखने को मिली तो वहीं 1553 शेयरों में गिरावट का दौर देखने को मिला. इसके अलावा 127 शेयरों में कोई बदलाव नहीं हुआ.

Diwali Muhurat Trading 2022: मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन में बाजार ने किया है बेहतर प्रदर्शन, 15 में से 11 बार तेजी के साथ हुआ बंद

Diwali Muhurat Trading 2022: आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 15 वर्षों में से 11 बार मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन में बाजार बढ़त के साथ बंद होने में कामयाब रहा है. 2017, 2016, 2012 और 2007 में मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान बाजार में गिरावट रही थी.

संवत 2078 पिछले सात सालों में भारतीय बाजारों के लिए सबसे खराब साल रहा. (File Photo)

Diwali Muhurat Trading 2022: दिवाली (Diwali) के दिन शेयर मार्केट (Share Market) सुबह बंद रहता है लेकिन शाम को बाजार मुहूर्त ट्रेडिंग के लिए 1 घंटे खुलता है. इस मौके पर बाजार में निवेश करना शुभ माना जाता है. बड़े और छोटे हर तरह के निवेशक मुहूर्त ट्रेडिंग पर ट्रेडिंग करना पसंद करते हैं. हिंदू कैलेंडर वर्ष के अनुसार आज मुहूर्त ट्रेडिंग के साथ संवत 2079 शुरू हो जाएगा. मुहूर्त ट्रेडिंग में बाजार ने ऐतिहासिक रूप से काफी अच्छा प्रदर्शन किया है. ज्यादातर मुहूर्त पर सेंसेक्स में तेजी रही लेकिन अगले सेशन में गिरावट आई.

मुहूर्त ट्रेडिंग 2022 की टाइमिंग

संवत 2079 के शुभारंभ के अवसर पर दिवाली के दिन बीएसई (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) में मुहूर्त कारोबार (Muhurt Trading Time) इस साल एक घंटे शाम 6.15 बजे से लेकर 7.15 बजे तक का होगा. ब्लॉक डील शाम 5.45 बजे से शाम 6 बजे तक होगी. मुहूर्त ट्रेडिंग शाम 6:00 से 6:08 बजे प्री ओपन ट्रेडिंग सेशन होगा.

मंगलवार को शेयर मार्केट फिर से पुराने समय पर खुलेगा. 26 अक्टूबर 2022 यानी बुधवार को स्टॉक मार्केट मे दिवाली बलिप्रदा की वजह से कोई कारोबार नहीं होगा. वहीं फिर से गुरुवार और शुक्रवार को निवेशकों के लिए मार्केट खुला रहेगा.

संवत 2078 में इतनी बढ़ी निवेशकों की दौलत

हिंदू कैलेंडर वर्ष के मुताबिक संवत 2078 में सेंसेक्स 456 अंक गिरकर 59,307.15 अंक पर बंद हुआ. जबकि निफ्टी 253 अंक फिसलकर 17,576.30 के स्तर पर बंद हुआ. संवत 2078 में शेयर बाजार के निवेशकों की दौलत 11.3 लाख करोड़ रुपये बढ़ी. एक वर्ष में बीएसई लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 11.3 लाख करोड़ रुपये बढ़कर 274.4 लाख करोड़ रुपये बढ़ा. ऐतिहासिक आंकड़े बताते हैं कि संवत 2078 पिछले सात सालों में भारतीय बाजारों के लिए सबसे खराब साल रहा.

15 में से 11 बार दिवाली के दिन चढ़ा बाजार

आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 15 वर्षों में से 11 बार मुहूर्त ट्रेडिंग पर बाजार बढ़त के साथ बंद होने में कामयाब रहा है. साल 2021 की दिवाली के दिन एक घंटे के लिए हुई मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान सेंसेक्स-निफ्टी हरे निशान में बंद हुए थे. सेंसेक्स 296 अंक या 0.49% की बढ़त के साथ 60,067.62 के स्तर पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 88 अंक उछलकर 17,916.80 के स्तर पर बंद हुआ.

साल 2020 में दिवाली के दिन बाजार 0.45% चढ़कर बंद हुआ था. जबकि साल 2019 में दिवाली के दिन बाजार में 0.49% की तेजी दर्ज की गई थी. वहीं 2018 में मुहूर्त ट्रेडिंग में 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 0.70% उछला था. 2017, 2016, 2012 और 2007 में मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान बाजार में गिरावट रही थी.

2008 में मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन में बाजार ने लगाई थी लंबी छलांग

साल 2008 में दिवाली के दिन बाजार ने सबको चौंकाया था. 28 अक्टूबर 2008 को दिवाली के दिन 1 घंटे के मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन सेंसेक्स 5.9% चढ़ा था.

Muhurat Trading: दिवाली पर शेयर बाजारों में एक घंटे के लिए होगा मुहूर्त ट्रेडिंग, निवेशक मानते हैं इसे शुभ

दलाल स्ट्रीट स्थित बीएसई बिल्डिंग (फोटो क्रेडिट-Wikimedia Commons)

Diwali Muhurat Trading 2022: दिवाली के मौके पर मुहूर्त ट्रेडिंग की परंपरा लंबे समय से चली आ रही है. निवेशक साल भर इस दि . अधिक पढ़ें

  • पीटीआई
  • Last Updated : October 22, 2022, 08:35 IST

हाइलाइट्स

दिवाली का त्योहार शेयर बाजार और निवेशकों के लिए बेहद खास रहता है.
शेयर बाजार में दिवाली पर मुहूर्त ट्रेडिंग की परंपरा काफी पुरानी है.
दिवाली पर निवेश को बेहद शुभ माना जाता है.

नई दिल्ली. हिंदू संवत वर्ष 2079 की शुरुआत के पहले दिन दीपावली पर सोमवार को प्रमुख शेयर बाजार बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) में एक घंटे का विशेष कारोबारी सेशन ‘मुहूर्त ट्रेडिंग’ (Muhurat Trading 2022) होगा. शेयर बाजारों में दिवाली के दिन भले ही छुट्टी रहती है, लेकिन इस दिन बाजार एक घंटे के लिए खुलता है.

दोनों शेयर बाजारों ने अलग-अलग सर्कुलर में बताया कि यह सांकेतिक कारोबारी सेशन शाम को 6:15 बजे से 7:15 बजे के बीच होगा. ऐसी मान्यता है कि ‘मुहूर्त’ के दौरान लेन-देन करना शुभ होता है और यह वित्तीय समृद्धि लाता है. मुहुर्त ट्रेडिंग के दौरान शेयर के अलावा जिंस वायदा, मुद्रा वायदा, शेयर वायदा एवं विकल्प जैसे क्षेत्रों में भी कारोबार होगा.

नई चीज की शुरुआत करने के लिए दिवाली को माना जाता है शुभ
अपस्टॉक्स (Upstox) में डायरेक्टर पुनीत माहेश्वरी ने कहा कि किसी भी नई चीज की शुरुआत करने के लिए दीपावली को सबसे अच्छा वक्त माना जाता है. बाजार में धारणा सकारात्मक है और विभिन्न क्षेत्रों में खरीदारी हो रही है. माना जाता है कि इस सेशन के दौरान खरीदारी करने पर निवेशक को सालभर लाभ मिलता है. उन्होंने कहा कि यह सत्र केवल एक घंटे का है इसलिए नए कारोबारियों को इस दौरान सतर्कता बरतनी चाहिए क्योंकि बाजार में उतार-चढ़ाव आता रहता है.

संवत 2079 में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद
सेंकटम वेल्थ (Sanctum Wealth) में प्रोडक्ट्स एंड सॉल्यूशंस के को-हेड मनीष जेलोका ने कहा कि संवत 2078 के दौरान भारतीय शेयर बाजारों ने वैश्विक बाजारों की तुलना में कहीं अच्छा प्रदर्शन किया था जो संवत 2079 में भी जारी रहने की उम्मीद है.

बैंक, कैपिटल गुड्स, मैन्युफैक्चरिंग से जुड़ी कंपनियों के शेयरों का प्रदर्शन अच्छा रहने की उम्मीद
कोटक महिंद्रा एसेट मैनेजमेंट कंपनी के ग्रुप प्रेसिडेंट और मैनेजिंग डायरेक्टर नीलेश शाह ने कहा कि संवत 2079 के दीपावली जैसा रहने की संभावना है. बैंक, कैपिटल गुड्स, मैन्युफैक्चरिंग से जुड़ी कंपनियों के शेयरों का प्रदर्शन अच्छा रहने की उम्मीद है. साथ ही टेक और फॉर्मा क्षेत्र में भी दिलचस्प अवसर मिल सकता है है.

26 अक्टूबर को बंद रहेंगे शेयर बाजार
शेयर बाजार 26 अक्टूबर को बलिप्रतिपदा (Diwali Balipratipada) के अवसर पर बंद रहेंगे.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Opening and closing time of stock market in India

भारतीय शेयर बाजार के खुलने तथा बंद होने के समय को तीन भागो में बांटा गया है। इस आर्टिकल में आप भारतीय शेयर बाजार के opening and closing time के बारे में विस्तार से जानेंगे। तो चलिए जानते हैं- Opening and closing time of stock market in India, Stock market की टाइमिंग को तीन भागों डिवाइड किया गया है। 1.प्री ओपनिंग सेशन 2. नार्मल सेशन या रेग्युलर सेशन 3. पोस्ट क्लोजिंग सेशन

Opening and closing time of Stock market in India

1.प्री ओपनिंग सेशन

Market Opening शरुआत प्रीओपनिग सेशन से होती है।प्रीओपनिंग सेशन का समय सुबह नौ बजे से नौ पंद्रह तक होता है इसमें तीन स्लॉट होते है। पहला स्लॉट सुबह नौ बजे से नौ बजकर आठ मिनट तक, इसे ऑर्डर एंट्री पीरियड कहते ,है, इस पीरियड में शेयर खरीद तथा बिक्री के ऑर्डर दे सकते है।

अगर आपको अपना आर्डर रद्द करना है तो वो भी कर सकते है। नौ बजकर सात या आठ मिनट के दौरान यह स्लॉट खत्म हो जाता है। Life Insurance Corporation Lic के initial public offer (IPO) से पैसे कैसे कमायें?

दूसरा स्लॉट सबह नौ बजकर आठ मिनट से नौ बजकर बारह मिनट तक होता है। इस स्लॉट में ऑर्डर मैचिंग की प्रक्रिया की जाती है तथा नार्मल सेशन की opening price निकाली जाती है। इस सेशन में शेयर खरीदने तथा बेचने के आर्डर केंसिल या मॉडिफाई नहीं कर सकते। Initial Public Offering (ट्रेडिंग सेशन के दौरान क्या होता है IPO) क्या है और यह कैसे काम करता है?
तीसरा स्लॉट नौ बजकर बारह मिनट से नौ बजकर पंद्रह मिनट तक होता है। इसे ट्रेडिंग सेशन के दौरान क्या होता है बफर पीरियड कहते है। इस सेशन में प्रीओपनिंग सेशन का स्मूथली ट्रांसफर होता है। जिस कीमत पर ज्यादातर buy / sell आर्डर मैच होते है वह equilibrium price कहलाती है और वही नॉर्मल सेशन की ओपनिंग प्राइस होती है।
Bilateral Matching System में जब शेयर खरीदने तथा बेचने की कीमत मैच हो जाती है, तो आर्डर ऑटोमेटिक रूप से पूरा हो जाता है। अगर शेयर खरीदने तथा बेचने वाले ज्यादा हो, तो कीमत तथा समय की प्रायोरिटी के हिसाब से सारे ऑर्डर पूरे किये जाते है। उम्मीद है आपको Opening and closing time of stock market in India पर यह लेख पसंद आ रहा होगा।

2.नॉर्मल सेशन (continuous session )

नॉर्मल सेशन की शरूआत सुबह नौ बजकर पंद्रह मिनट से होती है तथा यह साढ़े तीन बजे तक लगातार चलता है। इसे continuous session भी कहते है। इस सेशन में आप सुबह के सवा नौ बजे से शाम के साढ़े तीन बजे तक आप जब भी चाहे शेयर खरीद तथा बेच सकते है। शेयर मार्केट निवेश के दौरान ध्यान देने योग्य बातें

नॉर्मल सेशन में bilateral matching system का उपयोग किया जाता है, यानी कि जब buyer तथा seller की प्राइस मैच हो जाती है, तब वह सौदा अपने आप पुरा हो जाता है। अगर शेयर खरीदने तथा बेचने वाले ज्यादा हो, तब टाइम की प्रायोरिटी के हिसाब से सारे सौदे पूरे किये जाते है।
Bilateral Matching System की वजह से stock market opening प्राइस बहुत volatile रहती है। इसी volatility को कम करने के लिए प्रीओपनिंग सेशन लाया गया। फांग शेयरऔर फांग कंपनी क्या हैं ?

जिसमे मल्टी लेयर्ड मैचिंग सिस्टम यानी जिस प्राइस पर ज्यादातर आर्डर मैच होते हैं। उस प्राइस को नॉर्मल सेशन की ओपनिंग प्राइस बनाकर, स्टॉक एक्सचेंज ने ओपनिंग प्राइस वोलेटिलिटी को कम करने का प्रयास किया है।
इंडिया में बहुत कम ट्रेडर्स प्रीओपनिंग सेशन में पार्टिसिपेट करते है, ज्यादातर ट्रेडर्स नॉर्मल ट्रेडिंग सेशन की शुरुआत में ही ट्रेडिंग करते हैं। इसलिए नॉर्मल ट्रेडिंग सेशन के शुरू के दस, पंद्रह मिनट बहुत ही वोलेटाइल रहते है। नार्मल सेशन के शुरुआत में आपको बहुत सोच समझ कर ट्रेड करना चाहिए।

यदि आप शेयर मार्केट में नुकसान नहीं उठाना चाहते तो आपको बेंजामिन ग्राहम द्वारा लिखित बुक 'द इंटेलिजेंट इन्वेस्टर बुक (हिंदी) को एक बार जरूर पढ़ना चाहिए। इस बुक को शेयर मार्केट की बाइबिल भी कहा जाता है। The intelligent investors book को जरूर पढ़ना चाहिए।

नॉर्मल सेशन खत्म होने के बाद यानि साढ़े तीन बजे के बाद के दस मिनट ट्रेडिंग सेशन के दौरान क्या होता है का टाइम क्लोजिंग प्राइस के कैलकुलेशन के लिए होता है। इस दस मिनट में यानी साढ़े तीन बजे से तीन बजकर चालीस मिनट तक क्लोजिंग प्राइस का कैलकुलेशन होता है क्योंकि साढ़े तीन बजे जब नॉर्मल सेशन ट्रेडिंग बंद हो जाती है।

तब stocks तथा index का जो बंद होने का भाव होता है वह closing price नहीं होता है। शेयरों तथा इंडेक्स की क्लोजिंग प्राइस उनकी आखिरी आधे घंटे यानि तीन से साढ़े तीन के बीच के ट्रेडिंग प्राइस का औसत होता है। शेयर बाजार से पैसे कमाने के दस सबसे अच्छे तरीके क्या हैं?
इंडेक्स जैसे निफ़्टी इंडेक्स, आईटी इंडेक्स, बैंक इंडेक्स आदि का क्लोजिंग प्राइस इनके इंडेक्स में जो भी शेयर शामिल हैं। उनके आखिरी आधे घंटे के ट्रेडिंग प्राइस का वेटेड एवरेज होते है। जिसे वॉल्यूम वेटेड एवरेज प्राइस कहते है। ज्यादातर closing price दो या तीन मिनट में ही आ जाते है यानि की तीन बजकर बत्तीस या तैंतीस मिनट पर।

Post Closing Session

पोस्ट क्लोजिंग सेशन तीन चालीस से चार बजे तक होता है। यानी कि सिर्फ बीस मिनट के लिए। हम इस सेशन में नार्मल सेशन के क्लोजिंग प्राइस पर शेयर खरीद तथा बेच सकते है- जैसे मन लीजिये इंफोसिस के शेयर का क्लोजिंग प्राइस 600 रूपये है तथा कोई ट्रेडर इंफोसिस के शेयर खरीदना या बेचना चाहता है, तो वह post closing session में 600 रूपये के भाव पर खरीद या बेच सकता है।
प्रीओपनिंग सेशन तथा पोस्ट क्लोजिंग सेशन सिर्फ cash segment में ही होते है। फ्यूचर एंड ऑप्शन में ये दोनों सेशन नहीं होते है।संक्षेप में Stock market opening and closing in India इस प्रकार है -
9, 00 AM To 9 ; 15 AM , Price Opening Session
9, 15 AM To 3 ; 30 PM Normal Session ( Regular Session )
3, 30 PM To 3 ; 40 PM Closing Price Calculation
3, 40 PM To 4 ; 00 PM Post Closing Session
कई बार ऐसा होता है कि stock market open session के दौरान किसी कारणवश शेयर खरीद या बेच नहीं पाहैं। तब After Market Order यानि AMO का उपयोग कर सकते है। आफ्टर मार्केट ऑर्डर में आप अपने शेयर खरीदने तथा बेचने के ऑर्डर, स्टॉक मार्केट बंद होने से लेकर स्टॉक मार्केट खुलने तक दे सकते है। इस समय में वास्तविक ट्रेडिंग नहीं होती है, क्योंकि तो बंद ही Stock market रहता है आप बस अगले ट्रेडिंग सेशन के लिए ऑर्डर प्लेस सकते है।
अलग-अलग ब्रोकर्स के आफ्टर मार्केट ऑर्डर का समय अलग हो सकता है। कुछ स्टॉक ब्रोकर आफ्टर मार्केट ऑर्डर कि सुविधा नहीं प्रदान करते है। Stock market में एक स्पेशल ट्रेडिंग सेशन भी होता है, जिसे दीपावली पर किया जाता है। इसे मुहूर्त ट्रेडिंग भी कहते है। इसमें दीपावली के दिन एक घंटे के लिए ट्रडिंग होती है। मुहूर्त ट्रडिंग ज्यादातर शाम के समय होती है।

एक रिक्वेस्ट है, प्लीज़ इस आर्टिकल में दिखाये गये किसी एक विज्ञापन पर किल्क अवश्य करें क्योंकि यह बिल्कुल फ्री है। जिससे इस साइट के मेंटिनेंस के लिए कुछ अर्निग्स भी हो सके। धन्यवाद
आशा है कि आपको यह लेख ऐसी ही इन्फॉर्मेशनल पोस्ट पढ़ने के लिए हमारे ब्लॉग को subscribe जरूर कीजिये। इस पोस्ट से सम्बन्धित कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। यदि ये पोस्ट आपको पसंद आयी हो तो इसे सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें। आप हमें facebook और Instagram पर जॉइन कर सकते हैं।

रेटिंग: 4.36
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 372