B2Broker डिजिटल एसेट एक्सचेंज में विभिन्न व्यापारिक शैलियों और ग्राहकों के प्रकारों के लिए परिचित बिंदु प्रदान करते हुए प्रमुख व्यापारिक कार्यों में फैले कई, पूर्ण-विशेषताओं वाले ट्रेडिंग एपीआई की सुविधा है:

भारत में कैसे खरीदें बिटकॉइन?अपना क्रिप्टोकरेंसी ऑर्डर दें

बिटकॉइन दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी है। इसमें 2009 में इसकी शुरुआत से अब तक कई गुना बढ़ोतरी देखने को अपना क्रिप्टोकरेंसी ऑर्डर दें मिली है। इस साल के शुरुआत से अब तक इसमें 120 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोतरी देखने को मिली है। हालांकि इस असेट क्लास को बीच में झटके लगे हैं। फिर भी डिजिटल करेंसी ने पूरी दुनिया में जबरदस्त लोकप्रियता हासिल कर ली। अब तो दुनिया के तमाम सेंट्रल बैंक भी इस बात पर विचार कर रहे हैं कि किस तरीके से डिजिटल करेंसी को मुख्य धारा की मुद्रा के तौर पर मान्यता दी जाए। संस्थागत रूप से मिल रही स्वीकृति बिटकॉइन में जबरदस्त तेजी की अहम वजहों में से एक रही है।

पूरी दुनिया में इन्फ्लेशन (महंगाई) की बढ़ती चिंताओं के बीच बिटकॉइन को सेफ हैवेन असेट (सबसे सुरक्षित निवेश विकल्प) माना जा रहा है। न्यू यॉर्क स्टॉक अपना क्रिप्टोकरेंसी ऑर्डर दें एक्सचेंज पर बिटकॉइन ETF(एक्सचेंज ट्रेड फंड) के हाल में हुए आगाज ने भी बिटकॉइन की कीमतों में जोरदार उछाल में सहयोग किया है। इसके साथ ही अक्टूबर का महीना पूरे स्टॉक मार्केट लिए भी रिकॉर्ड ब्रेकिंग रहा है। इसके अलावा 35 करोड़ यूजर वाले पे पल (PayPal) ने भी क्रिप्टो में होने वाली पेमेंट को मंजूरी दे दी है। इन सब कारणों के चलते 9 नवंबर 2021 को बिटकॉइन की कीमतें 68,641.57 डॉलर के ऑल टाइम हाई पर पहुंच गईं।

फीचर आर्टिकल: कॉइन स्विच के साथ क्रिप्टो ट्रेडिंग उतनी ही आसान है जितना अपना फेवरेट फूड ऑर्डर करना

बिटकॉइन और क्रिप्टो करेंसी को लेकर तमाम तरह की बहस और तर्क-वितर्क के बावजूद भारत की जनता ने सुरक्षा जुड़े तमाम संदेह दरकिनार करते हुए न केवल क्रिप्टो करेंसी को अपनाया है, बल्कि दुनिया में क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग करने वाली सबसे बड़ी आबादी भारत की ही है। भारत में क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग को आसान, सुलभ और सुरक्षित बनाने में बहुत बड़ा हाथ देश के तेजी से बढ़ते क्रिप्टो ऐप कॉइन स्विच कुबेर का है। भारत के सबसे सरल क्रिप्टो ऐप कॉइन स्विच कुबेर के साथ 1.2 करोड़ का विशाल निवेशक वर्ग जुड़ चुका है और यह संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

कोई बैंक या मध्यस्थ नहीं, आप हैं अपनी संपत्ति के खुद मालिक
क्रिप्टो करेंसी एक डीसेंट्रलाइज डिजिटल एसेट है। यानी रुपए या डॉलर या किसी और मुद्रा की तरह इसके मूल्य को रिजर्व बैंक या फेडरल रिज़र्व जैसी सेंट्रल अथॉरिटी नियंत्रित नहीं करती, बल्कि अपनी संपत्ति के आप खुद मालिक होते हैं।

क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज टर्नकी

B2Broker हमारे प्रासंगिक सामग्री, उत्पादों और सेवाओं के बारे में आपसे संपर्क करने के लिए आपके द्वारा प्रदान की गई जानकारी का उपयोग करता है। अधिक जानकारी के लिए, हमारी गोपनीयता नीति देखें। Privacy Policy.

क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज क्या है?

एक क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज या एक डिजिटल मुद्रा विनिमय (डीसीई) एक ऐसा व्यवसाय है जो ग्राहकों को अन्य परिसंपत्तियों जैसे कि पारंपरिक फिएट अपना क्रिप्टोकरेंसी ऑर्डर दें मनी या अन्य डिजिटल मुद्राओं के लिए क्रिप्टोकरेंसी या डिजिटल अपना क्रिप्टोकरेंसी ऑर्डर दें मुद्राओं का व्यापार करने की अनुमति देता है।

यह एक परिष्कृत क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज समाधान है जो सुपर-फास्ट और स्थिर मिलान इंजन प्रदर्शन और विश्वसनीय क्रिप्टो सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित करता अपना क्रिप्टोकरेंसी ऑर्डर दें है। यह व्यापारियों और दलालों के लिए एक परिष्कृत उपयोगकर्ता अनुभव प्रदान करता है, क्रिप्टो ट्रेडिंग और सभी आवश्यक क्रिप्टो गतिविधियों के लिए तकनीकी बढ़त प्रदान करता है।

कोई मिलान शुल्क नहीं। कोई छिपी हुई फीस नहीं।

आप केवल तकनीकी सहायता और होस्टिंग के लिए भुगतान करते हैं। ट्रेडिंग वॉल्यूम के लिए कोई छिपा हुआ भुगतान या शुल्क नहीं।

अनुकूलन योग्य यूजर इंटरफेस

भारत में कैसे खरीदें बिटकॉइन?

बिटकॉइन दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी है। इसमें 2009 में इसकी शुरुआत से अब तक कई गुना बढ़ोतरी देखने को मिली है। इस साल के शुरुआत से अब तक इसमें 120 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोतरी देखने को मिली है। हालांकि इस असेट क्लास को बीच में झटके लगे हैं। फिर भी डिजिटल करेंसी ने अपना क्रिप्टोकरेंसी ऑर्डर दें पूरी दुनिया में जबरदस्त लोकप्रियता हासिल कर ली। अब तो दुनिया के तमाम सेंट्रल बैंक भी इस बात पर विचार कर रहे हैं कि किस तरीके से डिजिटल करेंसी को अपना क्रिप्टोकरेंसी ऑर्डर दें मुख्य धारा की मुद्रा के तौर पर मान्यता दी जाए। संस्थागत रूप से मिल रही स्वीकृति बिटकॉइन में जबरदस्त अपना क्रिप्टोकरेंसी ऑर्डर दें तेजी की अहम वजहों में से एक रही है।

पूरी दुनिया में इन्फ्लेशन (महंगाई) की बढ़ती चिंताओं के बीच बिटकॉइन को सेफ हैवेन असेट (सबसे सुरक्षित निवेश विकल्प) माना जा रहा है। न्यू यॉर्क स्टॉक एक्सचेंज पर बिटकॉइन ETF(एक्सचेंज ट्रेड फंड) के हाल में हुए आगाज ने भी बिटकॉइन की कीमतों में जोरदार उछाल में सहयोग किया है। इसके साथ ही अक्टूबर का महीना पूरे स्टॉक मार्केट लिए भी रिकॉर्ड ब्रेकिंग रहा है। इसके अलावा 35 करोड़ यूजर वाले पे पल (PayPal) ने भी क्रिप्टो में होने वाली पेमेंट को मंजूरी दे दी है। इन सब कारणों के चलते 9 नवंबर 2021 को बिटकॉइन की कीमतें 68,641.57 डॉलर के ऑल टाइम हाई पर पहुंच गईं।

फीचर आर्टिकल: कॉइन स्विच के साथ क्रिप्टो ट्रेडिंग उतनी ही आसान है जितना अपना फेवरेट फूड ऑर्डर करना

बिटकॉइन और क्रिप्टो करेंसी को लेकर तमाम तरह की बहस और तर्क-वितर्क के बावजूद भारत की जनता ने सुरक्षा जुड़े तमाम संदेह दरकिनार करते हुए न केवल क्रिप्टो करेंसी को अपनाया है, बल्कि दुनिया में क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग करने वाली सबसे बड़ी आबादी भारत की ही है। भारत में क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग को आसान, सुलभ और सुरक्षित बनाने में बहुत बड़ा हाथ देश के तेजी से बढ़ते क्रिप्टो ऐप कॉइन स्विच कुबेर का है। भारत के सबसे सरल क्रिप्टो ऐप कॉइन स्विच कुबेर के साथ 1.2 करोड़ का विशाल निवेशक वर्ग जुड़ चुका है और यह संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

कोई बैंक या मध्यस्थ नहीं, आप हैं अपनी संपत्ति के अपना क्रिप्टोकरेंसी ऑर्डर दें खुद मालिक
क्रिप्टो करेंसी एक डीसेंट्रलाइज डिजिटल एसेट है। यानी रुपए या डॉलर या किसी और मुद्रा की तरह इसके मूल्य को रिजर्व बैंक या फेडरल रिज़र्व जैसी सेंट्रल अथॉरिटी नियंत्रित नहीं करती, बल्कि अपनी संपत्ति के आप खुद मालिक होते हैं।

रेटिंग: 4.44
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 740