अन्य सभी Factor स्थिर हैं, हमें नहीं लगता कि हमें यहां फिर से मूल्यांकन पर चर्चा करने की जरूरत है। हमें एक स्टॉक AANCHAL ISPAT मिला है जिसमें मल्टी बैगर बनने की अपार संभावनाएं हैं। हमने पहले उल्लेख किया था कि प्रत्येक प्रमोटर नए नियमों के कारण कर्ज चुकाने के लिए दौड़ रहा है। AANCHAL ISPAT ऐसा ही एक मामला है। साथ ही शुक्रवार को दोपहर 2.28 बजे आंध्र सीमेंट में 20 लाख शेयरों की ब्लॉक डील हुई। दोनों प्लांट फिलहाल काम नहीं कर रहे हैं लेकिन जब किसी ने खरीदारी की तो साफ तौर पर संकेत मिलता है कि कोई एक ले रहा है। सौदे की संभावित कीमत क्या होनी चाहिए (ईवी/आईबीआईटीडीए के आधार पर) या सीएनआई टीम से मिलने वाली कीमत क्या हो सकती है। निवेशकों के साथ-साथ व्यापारियों के लिए भी पर्याप्त अवसर हैं। हम ट्रेडिंग कॉल में लगातार आधार पर सफल रहे हैं लेकिन केवल स्थिति में हैं क्योंकि हम जानते हैं कि Super Algo 10 में से 8 बार स्टॉप लॉस लाता है।

आज फिर शेयर मार्केट में जबरदस्त उछाल, इन शेयर्स की हो सकती है बल्ले-बल्ले!

Share Market Update: ग्लोबल बाजार में हो रहे भारी उतार-चढ़ाव के बीच आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को भारतीय शेयर मार्केट काफी लंबी छलांग मार सकता है। भारतीय शेयर बाजार में लगातार छह सत्रों के बाद थोड़ा नरम तो पड़ा है पर अब फिर बाजार में दम दिखाई पड़ रहा है। वहीं, ग्लोबल मार्केट के कुछ पॉजिटिव असर भारत के शेयर बाजार पर भी आज दिखना तय है। आज शेयर मार्केट में प्री ओपन सेशन से ही पॉजिटिव असर दिखाई दे रही है। >>*IBC24 News Channel के WHATSAPP ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां CLICK करें*

आज कैसी है Sensex-Nifty की चाल?

आज शेयर बाजार हरे न‍िशान के साथ खुला। 30 अंक वाला सेंसेक्‍स 122.24 अंक यानी ग्लोबल मार्केट्स क्या है 0.21% की तेजी के साथ 58,421.04 अंक पर खुला, जबकि 50 अंक वाला न‍िफ्टी 41.65 अंक यानी 0.24% की तेजी के साथ 17,423.65 के स्‍तर पर खुला। बाजार में लगातार तेजी का रुख कायम है। हालांकि गुरुवार को को बाजार में ट्रेडिंग सेशन के दौरान कई बार लाल निशान पर गया और कारोबार के बाद बाजार लाल निशान पर ही बंद हुआ। ग्लोबल संकेत मजबूत हैं और एशियाई बाजारों में भी मिलाजुला कारोबार देखा जा रहा है जिससे बाजार को आज सपोर्ट मिला है।

ग्लोबल मार्केट की बात करें तो आज अमेरिका एक बार फिर बाजार में रौनक लौटती दिख रही है। इस पूरे हफ्ते अमेरिकी बाजार में तेजी रही है। दूसरी तरफ फेड रिजर्व के ब्‍याज दर बढ़ाने के बाद निवेशकों को महंगाई नीचे आने की उम्‍मीद है, ऐसे में निवेशक बाजार में जमकर दांव लगा रहे हैं। जिसके चलते अमेरिका के प्रमुख शेयर बाजारों में शामिल NASDAQ पर पिछले सत्र में 0.41 फीसदी की तेजी दिख रही है।

क्या रहा कल का हाल?

इससे पहले गुरुवार सुबह तेजी के साथ खुलने के बाद दिन के ट्रेड के दौरान भारतीय बाजारों में फिर से बड़ी गिरावट देखी गई। आज हफ्ते के चौथे कारोबारी दिन शेयर बाजार हरे निशान पर बंद हुआ। आज का कारोबार खत्म होने के बाद मुंबई स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक सेंसेक्स करीब 52 अंक नीचे गिरकर 58,298 अंकों पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी केवल 6 अंकों की गिरावट के साथ 17,382 अंक पर बंद हुआ।

इन स्‍टॉक में है Multi Bagger बनने का दम, खरीदने से पहले जान लें एक्‍सपर्ट की राय

Andhra Cement (टेक ओवर केस) 24 रुपये से गिरकर 17 रुपये पर आ गया। (Pti)

क्या हमें बाजारों को समझने के लिए असाधारण दिमाग की जरूरत है. हमारा जवाब है नहीं। आपको बस यह जानने की जरूरत है कि आप अभी भी बुल मार्केट में हैं। करेक्‍शन सही है और अगर आप उन्‍हें अच्‍छा नहीं मानते तो आप मिस कर देंगे खासकर यदि ट्रेडर हैं।

नई दिल्‍ली, Kishore P Ostwal। क्या हमें बाजारों को समझने के लिए असाधारण दिमाग की जरूरत है. हमारा जवाब है नहीं। आपको बस यह जानने की जरूरत है कि आप अभी भी बुल मार्केट में हैं। करेक्‍शन सही है और अगर आप उन्‍हें अच्‍छा नहीं मानते तो आप मिस कर देंगे खासकर यदि आप ट्रेडर हैं। अगर कुछ हताश Sellers के लिए कीमत गिर रही है, तो आपको उन्हें सस्ते में खरीदने का मौका देने के लिए वास्तव में धन्यवाद देना चाहिए। जैसे Andhra Cement(टेक ओवर केस) 24 रुपये से गिरकर 17 रुपये पर आ गया जबकि शुक्रवार को दोपहर 3.28 बजे 2 करोड़ शेयरों में ब्लॉक डील हुई। अब कीमत देखें और कारण जानें। हमने कहा था कि बाजार 17370 तक गिर सकता है और वास्तव में यह 17340 पर चला गया। ऐसा क्यों हुआ? चार्ट पर 17100 का स्‍तर शानदार समर्थन के रूप में दिख रहा था। चार्टिस्ट को यह समझना चाहिए कि जो लोग बाजार को नियंत्रित करते हैं वे चार्ट भी जानते हैं। यहीं पर मार्केट गुरु कहता है कि मार्केट में टाइमिंग असंभव है। हम चार्टिस्ट नहीं हैं। हमने 17750 का अनुमान लगाया था और वास्तव में यह 17800 पर पहुंच गया था और हमने कहा था कि 17370 को नहीं टूटना चाहिए और इसने 17340 का स्‍तर किया। यह एक बड़ा सप्ताह था।

आज फिर शेयर मार्केट में जबरदस्त उछाल, इन शेयर्स की हो सकती है बल्ले-बल्ले!

Share Market Update: ग्लोबल बाजार में हो रहे भारी उतार-चढ़ाव के बीच आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को भारतीय शेयर मार्केट काफी लंबी छलांग मार सकता है। भारतीय शेयर बाजार में लगातार छह सत्रों के बाद थोड़ा नरम तो पड़ा है पर अब फिर बाजार में दम दिखाई पड़ रहा है। वहीं, ग्लोबल मार्केट के कुछ पॉजिटिव असर भारत के शेयर बाजार पर भी आज दिखना तय है। आज शेयर मार्केट में प्री ओपन सेशन से ही पॉजिटिव असर दिखाई दे रही है। >>*IBC24 News Channel के WHATSAPP ग्रुप से जुड़ने के लिए ग्लोबल मार्केट्स क्या है यहां CLICK करें*

आज कैसी है Sensex-Nifty की चाल?

आज शेयर बाजार हरे न‍िशान के साथ खुला। 30 अंक वाला सेंसेक्‍स 122.24 अंक यानी 0.21% की तेजी के साथ 58,421.04 ग्लोबल मार्केट्स क्या है अंक पर खुला, जबकि 50 अंक वाला न‍िफ्टी 41.65 अंक यानी 0.24% की तेजी के साथ 17,423.65 के स्‍तर पर खुला। बाजार में लगातार तेजी का रुख कायम है। हालांकि गुरुवार को को बाजार में ट्रेडिंग सेशन के दौरान कई बार लाल निशान पर गया और कारोबार के बाद बाजार लाल निशान पर ही बंद हुआ। ग्लोबल संकेत मजबूत हैं और एशियाई बाजारों में भी मिलाजुला कारोबार देखा जा रहा है जिससे बाजार को आज सपोर्ट मिला है।

ग्लोबल मार्केट की बात करें तो आज अमेरिका एक बार फिर बाजार में रौनक लौटती दिख रही है। इस पूरे हफ्ते अमेरिकी बाजार में तेजी रही है। दूसरी तरफ फेड रिजर्व के ब्‍याज दर बढ़ाने के बाद निवेशकों को महंगाई नीचे आने की उम्‍मीद है, ऐसे में निवेशक बाजार में जमकर दांव लगा रहे हैं। जिसके चलते अमेरिका के प्रमुख शेयर बाजारों में शामिल NASDAQ पर पिछले सत्र में 0.41 फीसदी की तेजी दिख रही है।

क्या रहा कल का हाल?

इससे पहले गुरुवार सुबह तेजी के साथ खुलने के बाद दिन के ट्रेड के दौरान भारतीय बाजारों में फिर से बड़ी गिरावट देखी गई। आज हफ्ते के चौथे कारोबारी दिन शेयर बाजार हरे निशान पर बंद हुआ। आज का कारोबार खत्म होने के बाद मुंबई स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक सेंसेक्स करीब 52 अंक नीचे गिरकर 58,298 अंकों पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी केवल 6 अंकों की गिरावट के साथ 17,382 अंक पर बंद हुआ।

वर्ल्ड ट्रैवल मार्केट 2022: वैश्विक मंच पर पर्यटन की संभावनाओं का प्रदर्शन करेगा भारत

वर्ल्ड ट्रैवल मार्केट पर्यटन एवं इससे संबंधित क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों के लिए एक साझा मंच प्रदान करता है। सम्मेलन में इस क्षेत्र से जुड़ी तमाम बातों पर चर्चा की जा सके। वर्ल्ड ट्रैवल मार्केट रोमांच, जोखिम और एडवेंचर की दुनिया को और बेहतर बनाने के लिए काम करता है। यह प्लेटफार्म पेशेवरों के लिए प्रेरणा, शिक्षा, सोर्सिंग और बेंचमार्किंग प्रदान करता है। इस वर्ष वर्ल्ड ट्रैवल मार्केट की प्रदर्शनी की थीम ‘द फ्यूचर ऑफ ट्रैवल स्टार्ट नाउ’ है।

तेज गति से उभरता हुआ क्षेत्र है पर्यटन

प्रोफेशनल और व्यक्तिगत जीवन की चुनौतियों के बोझ तले दबे होने के बाद, किसी के दिमाग को तरोताजा करने के लिए किसी भी खूबसूरत जगह पर यात्रा करना आवश्यक है। इस तरह की यात्राएं न केवल किसी की विलासिता का हिस्सा हैं बल्कि देश और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के सामाजिक-सांस्कृतिक, राजनीतिक और आर्थिक क्षेत्रों के विकास के लिए पर्यटन को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। बीते कुछ सालों में भारत समेत दुनिया भर में पर्यटन एक मुख्य और अहम व्यवसाय के रूप में उभरकर सामने आया है। वर्ष 2019 के दौरान, भारत की जीडीपी में यात्रा और पर्यटन क्षेत्र का योगदान कुल अर्थव्यवस्था का 5.19 प्रतिशत था। वर्ष 2019 में, भारतीय पर्यटन क्षेत्र 79.86 मिलियन रोजगारों (प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार) के लिए उत्तरदायी रहा। केंद्र और राज्य सरकारों के निरंतर प्रयासों से पर्यटन उद्योग को धीरे-धीरे कोविड-19 के झटके से महामारी-पूर्व स्तर तक आने में मदद मिली है।
भारत भी देश में पर्यटकों को लुभाने के लिए समर के अलावा विंटर टूरिज्म को भी बढ़ाने पर भी कई योजनाएं ला रहा है, जो देश ही नहीं बल्कि विदेशी पर्यटकों को भी लुभा रहे हैं।

ग्लोबल मार्केट में हर तीसरे दिन गिरावट, बंद हुआ शेयर बाजार, जानिए क्या है बाते

डॉलर के मुकाबले रुपए में आ रही लगातार गिरावट के कारण बाजार की धारण प्रभावित हुई है. इसके अलावा कोरोना के डेल्टा वेरिएंट से भी निवेशक का सेंटिमेंट बिगड़ा है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। वैश्विक बाजारों में नकारात्मक रुख के बीच घरेलू बाजारों में भी बुधवार को लगातार तीसरे दिन गिरावट का रुख रहा. निवेशकों की उच्चस्तर पर बिकवाली से बंबई शेयर बाजार (बीएसई) में शुरुआती तेजी बरकरार नहीं रख सकी और अंत में बीएसई सेंसेक्स 67 अंक की गिरावट के साथ बंद हुआ.

बाजार सूत्रों के मुताबिक डॉलर के मुकाबले कमजोर पड़ते रुपये और ताजा लिवाली के अभाव में कारोबारी धारणा कमजोर रही. यही वजह है कि एक समय करीब 400 अंक ऊपर जाने के बाद 30-कंपनी शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स बिकवाली दबाव में आ गया और अंत में 66.95 अंक यानी 0.13 फीसदी गिरकर 52,482.71 अंक पर बंद हुआ. इसी प्रकार नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 26.95 अंक यानी 0.17 फीसदी गिरकर 15,721.50 अंक पर बंद हुआ.

रेटिंग: 4.45
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 662