एथेरियम में आई जबरदस्त तेजी

नई दिल्ली. ग्लोबल क्रिप्टोकरेंसी मार्केट कैपिटलाइजेशन पिछले 24 घंटों के दौरान 1.55 फीसदी के उछाल के साथ 1.75 ट्रिलियन डॉलर पर पहुंच गया है. वहीं, ट्रेडिंग वॉल्यूम अवधि के दौरान 10.12 फीसदी गिरकर 79.82 अरब डॉलर हो गया है. जहां डिसेंट्रलाइज्ड फाइनेंस में कुल वॉल्यूम 13.23 अरब डॉलर पर रहा है, जो 24 घंटों की क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग वॉल्यूम का करीब 16.58 फीसदी है. वहीं, स्टेबलकॉइन्स में कुल वॉल्यूम 67.60 अरब डॉलर पर रहा है, जो 24 घंटों की क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग वॉल्यूम के 84.70 फीसदी पर मौजूद है.

बिटकॉइन की बाजार में मौजूदगी 0.03 फीसदी बढ़कर 42.45 फीसदी पर पहुंच गई है. मार्केट कैपिटलाइजेशन के हिसाब से दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन 39,090.12 डॉलर पर ट्रेड कर रही है. यह 40,000 डॉलर के आंकड़े से थोड़ा कम है. रुपये की टर्म में, बिटकॉइन 1.93 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 30,95,313 रुपये पर ट्रेड कर रहा है. जबकि Ethereum 1.47 फीसदी की तेजी के साथ 2,04,808.3 रुपये पर पहुंच गया है. वहीं Cardano 0.85 फीसदी के उछाल के साथ 63.23 रुपये पर मौजूद है. और Avalanche 4.35 फीसदी गिरकर 5,759 रुपये पर आ गया है.

Polkadot की बात करें, तो यह क्रिप्टोकरेंसी 7.92 फीसदी की तेजी के साथ 1,एथेरियम में आई जबरदस्त तेजी 439.24 रुपये पर पहुंच गई है. जबकि, Litecoin पिछले 24 घंटों में 6.31 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 8,450 रुपये पर ट्रेड कर रहा है. वहीं, Tether 0.1 फीसदी की गिरावट के साथ 79.27 रुपये पर मौजूद है. दूसरी तरफ मीमकॉइन SHIB में 1.77 फीसदी की तेजी देखी गई है. जबकि, Dogecoin 1.24 फीसदी के उछाल के साथ 9.2 रुपये पर पहुंच गया है. Terra (LUNA) 5.46 फीसदी की गिरावट के साथ 7,220.15 रुपये पर ट्रेड कर रहा है.

Solana 1.6 फीसदी के उछाल के साथ 6,580 रुपये पर ट्रेड कर रहा है. XRP की बात करें, तो यह 12.2 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ मौजूदा समय में 65.63 रुपये पर मौजूद है. वहीं, Axie पिछले 24 घंटों के दौरान 4.15 फीसदी की तेजी के साथ 3,749.46 रुपये पर पहुंच गया है.

Crypto Currency: बिटक्वाइन और इथेरियम की कीमत में रिकॉर्ड इजाफा, जानें कहां पहुंच गए दुनिया की सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी के दाम

क्रिप्टोकरेंसी की कीमतों में जबरदस्त तेजी आई है। इसके बाद दुनिया की सबसे लोकप्रिय करेंसी बिटक्वाइन की कीमत सोमवार को अपने ऑल टाइम हाई 67,700 डॉलर के पार पहुंच गई है। इसके साथ ही इथेरियम की कीमत भी पहली बार 48,000 डॉलर को पार कर गई।

क्रिप्टोकरेंसी

क्रिप्टोकरेंसी की कीमतों में जबरदस्त तेजी आई है। इसके बाद दुनिया की सबसे लोकप्रिय करेंसी बिटक्वाइन की कीमत सोमवार को अपने ऑल टाइम हाई 67,700 डॉलर के पार पहुंच गई है। इसमें तेजी का सिलसिला यहीं नहीं था पिछले 24 घंटे में इसकी कीमत लगातार बढ़ रही है। कॉइनडेस्क के अनुसार फिलहाल बिटक्वाइन की कीमत 68,249.59 डॉलर पर पहुंच गई है। गौरतलब है कि तीन हफ्तों के बाद बिटक्वाइन में यह तेजी देखने को मिली है। बीते 20 अक्तूबर को इसके दाम 67,000 के पास पहुंचा था।

इथेरियम की कीमत पहली बार 4800 डॉलर के पार
बिटक्वाइन के बाद दूसरी सबसे लोकप्रिय करेंसी इथेरियम की कीमतें भी आसमान छू रही हैँ। तेज बढ़त के साथ इस क्रिप्टोकरेंसी की कीमत इस समय 4,800 डॉलर पर पहुंच गई है। इथेरियम चार प्रतिशत की तेजी के साथ पहली बार 4800 के निशान के पार पहुंचा है। अक्तूबर की शुरुआत के बाद से इसकी कीमत में लगभग 59 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है।

दोनों क्रिप्टोकरेंसी ने दिया 70 फीसदी का रिटर्न
बिटक्वाइन और इथेरियम दोनों क्रिप्टोकरेंसी अक्तूबर के बाद से डॉलर की तुलना में 70 फीसदी ज्यादा रिटर्न दे रही हैं। बिटकॉइन और अन्य करेंसी में अक्तूबर के महीने से तेजी शुरू हुई थी। पिछले महीने अमेरिका में क्रिप्टोकरेंसी का एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) लॉन्च होने के बाद इनकी कीमत में लगातार इजाफा देखा गया। यह पहला बिटकॉइन ईटीएफ लॉन्च किया गया था।

पहली बार मार्केट कैप 3 ट्रिलियन डॉलर के पार
क्रिप्टो की कीमतों में तेजी से इसका मार्केट कैप पहली बार इस समय तीन लाख करोड़ डॉलर (तीन ट्रिलियन डॉलर) हो गया है। क्रिप्टो में करीबन 13,796 करेंसी इस समय कारोबार कर रही हैं। बिटक्वाइन की अभी तक की सबसे ज्यादा कीमत अप्रैल 2021 में थी। उस समय बिटक्वाइन 64,889 डॉलर पर कारोबार कर रही थी। उसके बाद इस करेंसी में गिरावट का सिलसिला शुरु हुआ। गिरावट के दौर में बिटक्वाइन की कीमत 30 हजार डॉलर तक पहुंच गई थी। जानकारों का मानना है कि बहुत जल्द बिटक्वाइन की कीमत एक लाख डॉलर के आंकड़े को पार कर सकती है।

बिटक्वाइन का लोगों के बीच खासा क्रेज
क्रिप्टोकरेंसी में बिटक्वाइन सबसे लोकप्रिय है। बिटक्वाइन साल 2008 में शुरु हुई थी। क्रिप्टो के जानकारों का मानना है कि साल के अंत तक बिटक्वाइन की कीमत 98 हजार डॉलर तक जा सकती है। फंडस्ट्रैट ग्लोबल एडवाइजर्स ने इस नई बढ़ोतरी पर कहा कि आने वाले हफ्तों में बिटक्वाइन सहित अन्य क्रिप्टोकरेंसी में मजबूती आने की संभावना है।

विस्तार

क्रिप्टोकरेंसी की कीमतों में जबरदस्त तेजी आई है। इसके बाद दुनिया की सबसे लोकप्रिय करेंसी बिटक्वाइन की कीमत सोमवार को अपने ऑल टाइम हाई 67,700 डॉलर के पार पहुंच गई है। इसमें तेजी का सिलसिला यहीं नहीं था पिछले 24 घंटे में इसकी कीमत लगातार बढ़ रही है। कॉइनडेस्क के अनुसार फिलहाल बिटक्वाइन की कीमत 68,249.59 डॉलर पर पहुंच गई है। गौरतलब है कि तीन हफ्तों के बाद बिटक्वाइन में यह तेजी देखने को मिली है। बीते 20 अक्तूबर को इसके दाम 67,000 के पास पहुंचा था।

इथेरियम की कीमत पहली बार 4800 डॉलर के पार
बिटक्वाइन के बाद दूसरी सबसे लोकप्रिय करेंसी इथेरियम की कीमतें भी आसमान छू रही हैँ। तेज बढ़त के साथ इस क्रिप्टोकरेंसी की कीमत इस समय 4,800 डॉलर पर पहुंच गई है। इथेरियम चार प्रतिशत की तेजी के साथ पहली बार 4800 के निशान के पार पहुंचा है। अक्तूबर की शुरुआत के बाद से इसकी कीमत में लगभग 59 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है।

दोनों क्रिप्टोकरेंसी ने दिया 70 फीसदी का रिटर्न
बिटक्वाइन और इथेरियम दोनों क्रिप्टोकरेंसी अक्तूबर के बाद से डॉलर की तुलना में 70 फीसदी ज्यादा रिटर्न दे रही हैं। बिटकॉइन और अन्य करेंसी में अक्तूबर के महीने से तेजी शुरू हुई थी। पिछले महीने अमेरिका में क्रिप्टोकरेंसी का एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) लॉन्च होने के बाद इनकी कीमत में लगातार इजाफा देखा गया। यह पहला बिटकॉइन ईटीएफ लॉन्च किया गया था।

पहली बार मार्केट कैप 3 ट्रिलियन डॉलर के पार
क्रिप्टो की कीमतों में तेजी से इसका मार्केट कैप पहली बार इस समय तीन लाख करोड़ डॉलर (तीन ट्रिलियन डॉलर) हो गया है। क्रिप्टो में करीबन 13,796 करेंसी इस समय कारोबार कर रही हैं। बिटक्वाइन की अभी तक की सबसे ज्यादा कीमत अप्रैल 2021 में थी। उस समय बिटक्वाइन 64,889 डॉलर पर कारोबार कर रही थी। उसके बाद इस करेंसी में गिरावट का सिलसिला शुरु हुआ। गिरावट के दौर में बिटक्वाइन की कीमत 30 हजार डॉलर तक पहुंच गई थी। जानकारों का मानना है कि बहुत जल्द बिटक्वाइन की कीमत एक लाख डॉलर के आंकड़े को पार कर सकती है।


बिटक्वाइन का लोगों के बीच खासा क्रेज
क्रिप्टोकरेंसी में बिटक्वाइन सबसे लोकप्रिय है। बिटक्वाइन साल 2008 में शुरु हुई थी। क्रिप्टो के जानकारों का मानना है कि साल के एथेरियम में आई जबरदस्त तेजी अंत तक बिटक्वाइन की कीमत 98 हजार डॉलर तक जा सकती है। फंडस्ट्रैट ग्लोबल एडवाइजर्स ने इस नई बढ़ोतरी पर कहा कि आने वाले हफ्तों में बिटक्वाइन सहित अन्य क्रिप्टोकरेंसी में मजबूती आने की संभावना है।

Bitcoin-Ethereum में सता रहा घाटे का डर? जबरदस्‍त प्रॉफिट के लिए ले सकते हैं AI की मदद

Cryptocurrency Trading: कुछ साल पहले की तुलना में अब ज्‍यादा संख्‍या में लोग क्रिप्‍टोकरेंसी में दिलचस्‍पी लेने लगे हैं. लेकिन तकरीबन 90 फीसदी ट्रेडिंग केवल सेंटीमेंट के आधार पर ही देखने को मिल रही है. ऐसे में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) भी क्रिप्‍टो ट्रेडिंग से जुड़े फैसले लेने में मदद कर रहा है.

Bitcoin-Ethereum में सता रहा घाटे का डर? जबरदस्‍त प्रॉफिट के लिए ले सकते हैं AI की मदद

साल 2008 में पहली बार लॉन्‍च होने के बाद से अब तक क्रिप्‍टोकरेंसी (Cryptocurrency) की लोकप्रियता बहुत तेजी से बढ़ी है. लॉन्‍च के पहले 10 साल में ही क्रिप्‍टोकरेंसी का मार्केट लगभग शून्‍य डॉलर से बढ़कर करीब 400 अरब डॉलर के पार जा चुका था. Bitcoin के साथ शुरू हुए क्रिप्‍टो मार्केट (Crypto market) में फिलहाल 3,000 से ज्‍यादा क्रिप्‍टोकरेंसी हैं. जून 2021 तक कुल वैश्विक क्रिप्‍टो मार्केट कैप करीब 1.50 ट्रिलियन डॉलर पर हैं. हालांकि इस बात को भी नहीं नकारा जा सकता है कि क्रिप्‍टोकरेंसी मार्केट में यह तेजी बहुत उतार-चढ़ाव के बीच आई है.

बिटकॉइन का ही बात करें तो इसका भाव 60,000 डॉलर के साथ अपने उच्‍चतम स्‍तर पर पहुंचा गया था. लेकिन अब लुढ़ककर करीब 33,000 डॉलर के पास ट्रेड कर रहा है. क्रिप्‍टो मार्केट में उतार-चढ़ाव की वजह से बहुत निवेशकों ने महसूस किया कि इससे कम समय में अच्छा प्रॉफिट कमाया जा सकता है. लेकिन, एक निवेशक के तौर पर आपको किसी भी क्रिप्‍टोकरेंसी में उतार-चढ़ाव अनुमान लगा पाना मुश्किल काम है.

आर्टिफिश‍ियल इंटेलीजेंस करेगा मदद

अगर आप क्रिप्‍टोकरेंसी में निवेश करते हैं या निवेश करने की सोच रहे हैं तो आपको बता दें कि आर्टिफिश‍ियल इंटेलीजेंस इसमें आपकी मदद कर सकता है. आर्टिफिशिल इंटेलीजेंस की मदद से नौ‍सिखिए से लेकर अनुभवी निवेशक भी स्‍मार्ट फैसले ले सकते हैं.

एक निवेशक के तौर पर आप जानते होंगे कि स्‍टॉक मार्केट में भी वोलेटिलिटी देखने को मिलती है. लेकिन, क्रिप्‍टो की कीमतों की तुलना में स्‍टॉक मार्केट को समझना और इसका अनुमान लगाना आसान है. इसका एक कारण यह है कि क्रिप्‍टोकरेंसी अब नया है. स्‍टॉक मार्केट की तरह क्रिप्‍टोकरेंसी का भाव भी कैश फ्लो और एसेट उपलब्‍धता के आधार पर तय नहीं होती है. हालांकि, सेंटीमेंट से इसपर असर जरूर पड़ता है.

सेंटीमेंट नहीं बल्कि एनलिस‍िस के आधार पर ट्रेडिंग का मौका

जानकारों का मानना है कि मौजूदा समय में करीब 90 फीसदी क्रिप्‍टो मार्केट सेंटीमेंट के आधार पर ही चल रहा है. ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि अधिकतर निवेशक क्रिप्‍टोकरेंसी में तेजी को लेकर एक ही बारे में सोचते हैं और एक ही तरह के फैसले लेते हैं. जब किसी ख़बर या सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म्स पर एक खास क्रिप्‍टोकरेंसी की चर्चा होती है, तब क्रिप्‍टोकरेंसी में उसी तरह का रिएक्‍शन देखने को मिलता है. अब रिकर्सिव न्‍यूरल टेंसर नेटवर्क्‍स (RNTN) की मदद से इस तरह की चर्चाओं का एनलाइज कर आर्टिफिशियल इंटेलीजेंसी बॉट तैयार किया जा रहा है, जिसके आधार पर क्रिप्‍टोकरेंसी में निवेश से जुड़े फैसले लिया जा सकता है.

आर्टिफिश‍ियल इंटेलीजेंस कैसे करेगा मदद?

क्रिप्‍टोकरेंसी हर दिन 24 घंटे खुला रहता है. इसका मतलब है कि हर मिनट एक्टिव ट्रेडर्स इसकी कीमतों को ट्रैक कर रहे होते हैं. इसी की मदद से एआई इतना ज्‍यादा डेटा जुटा सकता है, जिसकी मदद से क्रिप्‍टोकरेंसी में ट्रेडिंग का फैसला लेना आसान हो जाएगा. इसमें ऐतिहासिक डेटा का भी इस्‍तेमाल कर पता लगाया जा सकता है कि पहले कैसा भाव रहा है और इसमें क्‍या ट्रेंड देखने को मिला है. जानकारों का कहना है कि आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की मदद से इंसानों द्वारा होने वाली चूक व गड़बड़ियों को लगभग खत्‍म एथेरियम में आई जबरदस्त तेजी करने में मदद मिलेगी. साथ ही इससे ट्रेडिंग का पूरा प्रोसेस भी बेहद तेज हो जाएगी.

इन यूजर्स को मिल रहा मोटी कमाई करने का मौका

Endor और Signal जैसे क्रिप्‍टो ट्रेडिंग फर्म्‍स और CryptoHawk.ai प्‍लेटफॉर्म्‍स अपने यूजर्स को इस तरह की जानकारी उपलब्‍ध करा रही हैं. Endor तो खुद को ‘अनुमानित एनलिस‍िस के लिए गूगल’ बता रहा है. यह फर्म अपने छोटे ट्रेडर्स के लिए भी इस तरह की जानकारी उपलब्‍ध करा रहा है ताकि उन्‍हें खुद से विस्‍तृत रिसर्च न करना पड़े. बेहतर नतीजों के लिए यह फर्म अपने यूजर्स की ट्रेडिंग गतिविधियों से जुड़ी जानकारी की मदद लेकर उनके लिए विशेष तौर पर तैयार की गई जानकारी दे रहा है.

Signal भी अपने नौसिखिए यूजर्स के लिए खास तरीके से डिज़ाइन किए गए इंडिकेटर्स की जानकारी देता है. Signal से आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की मदद से ही तैयार करता है. ये इंडिकेटर्स न केवल सटीक अनुमान लगाने में मदद करते हैं, बल्कि अनुभवी ट्रेडर्स और डेटा साइंटिस्‍ट्स को अपने एनलिसिस बेचकर कमाई करने का भी मौका देते हैं. CryptoHawk.ai बिटकॉइन और इथेरियिम में निवेश करने वाले यूजर्स के लिए एक तरह का आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस प्‍लेटफॉर्म है.

बिटकॉइन, ईथेरियम या डॉगे नहीं इस क्रिप्‍टोकरेंसी में आई 24 फीसदी की तेजी, जानिए कितने हुए दाम

बिटकॉइन (Bitcoin), इथेरियम (Ethereum) और बाकी क्रिप्‍टोकरेंसी में काफी अच्‍छी तेजी देखने को मिल रही है। वहीं टेरा लूना (Terra Price) में 24 फीसदी की जबरदस्‍त तेजी देखने को मिल रही है। वहीं दूसरी ओर ग्‍लोबल क्रिप्‍टोकरेंसी मार्केट कैप (Global Cryptocurrency Market Cap) एक बार फ‍िर से 2 ट्रिलियन डॉलर पर आ गया है।

Not bitcoin, ethereum or doge, this cryptocurrency rose by 24 percent, know how much price ssa

बिजनेस डेस्‍क। आज यानी एक मार्च को क्रिप्‍टोकरेंसी मार्केट (Cryptocurrency Market) की शुरुआत काफी अच्‍छी हुई है। बिटकॉइन, इथेरियम और बाकी क्रिप्‍टोकरेंसी में काफी अच्‍छी तेजी देखने को मिल रही है। वहीं टेरा लूना (Terra Price) में 24 फीसदी की जबरदस्‍त तेजी देखने को मिल रही है। वहीं दूसरी ओर ग्‍लोबल क्रिप्‍टोकरेंसी मार्केट कैप (Global Cryptocurrency Market Cap) एक बार फ‍िर से 2 ट्रिलियन डॉलर पर आ गया है। आइए आपको भी बताते हैं कि आख‍िर किस क्रिप्‍टोकरेंसी की कीमत (Cryptocurrency Price) कितनी हो गई है।

बिटकॉइन की की कीमत में जबरदस्‍त तेजी
पिछले सत्र में 39,000 डॉलर के स्तर से नीचे कारोबार करने के बाद बिटकॉइन के दाम आज 43,000 डॉलर से ऊपर चढ़ गई हैं। दुनिया की सबसे लोकप्रिय और सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी 13 फीसदी से अधिक बढ़कर 43,190 डॉलर हो गई। पिछले कुछ हफ्तों में बढ़ते जियो पॉलिटिकल टेंशन के दौरान बिटकॉइन के उतार-चढ़ाव ने इस तर्क को कमजोर करने का काम किया है कि क्रिप्टोकरेंसी मुसीबत के समय बचाने का काम करता है। बिटकॉइन साल 2022 में अब तक लगभग 6 फीसदी नीचे है, जबकि यह अभी भी नवंबर 2021 में अपने रिकॉर्ड हाई से 30 फीसदी से ज्‍यादा दूर है। इस बीच, CoinGecko के अनुसार, ग्‍लोबल क्रिप्टोकरेंसी मार्केट कैप पिछले 24 घंटों में 10 फीसदीसे ज्‍यादा बढ़कर 2 ट्रिलियन डॉलर पर वापस आ गया है।

टेरा में 24 फीसदी की तेजी
वहीं दूसरी ओर इथेरियम ब्लॉकचैन से जुड़ा सिक्का और बाजार पूंजीकरण के मामले में दूसरी सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी भी 10 फीसदी से अधिक बढ़कर 2,912 डॉलर हो गई। दूसरी ओर, डॉगकोइन की कीमत लगभग 7 फीसदी बढ़कर 0.13 डॉलर हो गई, जबकि शीबा इनु भी 8 फीसदी से अधिक बढ़कर 0.000026 डॉलर हो गई। टेरा में 24 फीसदी से ज्‍यादा की तेजी देखने को मिल रही है। जबकि सोलाना, एक्सआरपी, एवालांशे, पॉलीगॉन, लिटकोइन, कार्डानो, पोलकाडॉट की कीमतें पिछले 24 घंटों में 6-18 फीसदी तक की तेजी देखी जा रही है।

भारत में क्रिप्‍टोकरेंसी के दाम
- भारत में बिटकॉइन की कीमत करीब 11 फीसदी की तेजी के साथ दाम 33.41 लाख रुपए हो गई है।
- श‍िबाइनु में 7.49 फीसदी की तेजी के साथ 0.0020 रुपए पर कारोबार कर रहा है।
- इथेरियम की कीमत 9 फीसदी की तेजी के साथ 2.25 लाख रुपए पर कारोबार कर कर रहा है।
- सोलाना 10 फीसदी की तेजी के साथ 10 फीसदी की तेजी के साथ 7534 रुपए पर कारोबार कर रहा है।
- लूना में 21 फीसदी की तेजी आई है और दाम 6851 रुपए हो गए हैं।
- डॉगेकॉइन के दाम 5 फीसदी की तेजी के साथ 10.24 रुपए पर कारोबार कर रहा है।
- एक्‍सआरपी में 5 फीसदी की तेजी देखने को मिल रही है और दाम 60 रुपए हो गए हैं।

रेटिंग: 4.92
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 743