For example: सुबह आपने TCS का शेयर 100 रु per share की रेट से खरीदा और बाज़ार बंद होने से पहले आपने देखा कि TCS का शेयर अब 105 रु का हो गया है, और आपने उसे 105 रु में बेच दिया।

Day Trading Tips for Beginners in Hindi

Poonawala Fincorp Share: 4 दिनों में 15% टूटने के बाद 13% की जबरदस्त रैली, 24% तक और हो सकता है मुनाफा, चेक टारगेट प्राइस

पूनावाला फिनकॉर्प (Poonawala Fincorp) के शेयर आज सोमवार को इंट्रा-डे ट्रेड में BSEपर 13 फीसदी बढ़कर 277.50 रुपये पर पहुंच गए।

Poonawala Fincorp share price: पूनावाला फिनकॉर्प (Poonawala Fincorp) के शेयर आज सोमवार को इंट्रा-डे ट्रेड में BSE पर 13 फीसदी बढ़कर 277.50 रुपये पर पहुंच गए। इसकी तुलना में, S&P बीएसई सेंसेक्स 1.08 प्रतिशत बढ़कर 60,489 पर था। बता दें कि पिछले चार कारोबारी दिनों में इस स्टॉक में 15% की गिरावट आई थी। इसके पहले 13 अप्रैल, 2022 को स्टॉक ने 344 रुपये की रिकॉर्ड ऊंचाई को छू लिया था। पूनावाला फिनकॉर्प (पूर्व में मैग्मा फिनकॉर्प) एक साइरस पूनावाला ग्रुप है, जो नॉन डिपॉजिट स्वीकार करने वाली अहम नॉन-बैंकिंग फाइनेंस कंनपी (ND-SI-NBFC) है।

ज्ञान ही शक्ति है

बेसिक डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? जानकारियों के अलावा, डे ट्रेडर्स को नवीनतम स्टॉक मार्केट समाचारों और घटनाओं पर ध्यान रखने की आवश्यकता है जो स्टॉक प्राइस को प्रभावित करते हैं – ब्याज दर की योजना, आर्थिक दृष्टिकोण, आदि। उन शेयरों की, जैसे pc jewellers share price, की एक सूची बनाएं जिनको आप ट्रेड करना चाहते हैं। अब इनके बारे में आपको अपडेट रहने की ज़रुरत है जिसके लिए आप टीवी पर बिजनेस न्यूज़ देख सकते हैं और गूगल पर उनके बारे में सर्च कर विश्वसनीय फाइनेंसियल वेबसाइटों पर जा कर पढ़ सकते हैं।

आपके मन में यह सवाल आना स्वाभाविक है कि how to start day trading, यानी इसकी शुरुआत कैसे की जाए, इसके लिए क्या ज़रूरी है?

डे ट्रेडिंग कि शुरुआत करने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि आप अपनी जमा पूंजी मे से एक निर्धारित रकम अलग रख दें। डे ट्रेडिंग करना आसान काम नहीं है, इसलिए आपको इसे अपना काफी समय देना पड़ सकता है, कम से कम शुरुआत में तो अधिक समय लगेगा ही। इसलिए यह काफी जरूरी है कि आप डे ट्रेडिंग शुरू करने से पहले ही कुछ पैसे और रोज़ अपने दिन का कुछ समय अलग निकाल कर रख लें।

छोटे से शुरुआत करें

शुरुआत में, आपको यह सुनिश्चित करने की ज़रूरत है कि आप थोड़े से पैसे से डे ट्रेडिंग शुरू करें। यह महत्वपूर्ण है, यदि आप उचित अनुभव के बिना अधिक पैसा खर्च करते हैं, तो आप भारी नुक्सान उठा सकते हैं और ऐसे में आप day trading से हो सकने वाले लाभ से वंचित रह जाते हैं। ये भी ध्यान रखें कि शेयर बाज़ार में कभी भी कहीं से उधार लेकर या लोन लेकर पैसा ना निवेश करें. अपनी कमाई में से ही कुछ पैसे बचा कर इस तरह का काम करना उचित है।

निवेशकों और ट्रेडर्स द्वारा पहले से खरीद-फरोख्त की इंस्ट्रक्शन सुबह बाजार खुलते ही एक्सीक्यूट होने लगती हैं, जो मूल्य अस्थिरता में योगदान देती हैं। एक अनुभवी खिलाड़ी पैटर्न को पहचान सकता है और लाभ कमाने के लिए उचित शेयर और उसे खरीदने-बेचने का समय चुन सकता है। लेकिन newbies के लिए, यह बेहतर हो सकता है कि पहले 15 से 20 मिनट तक कोई भी कदम उठाए बिना बाजार को पढ़ें। बीच के घंटे आम ​​तौर पर कम अस्थिर होते हैं, और फिर बाज़ार बंद होने से पहले बाज़ार में तेजी से बदलाव आ सकता है। लेकिन डे ट्रेडिंग की शुरुआत करने वालों के लिए अच्छा यही होगा कि वे बाज़ार के स्थिर होने के दौरान share buying or selling का निर्णय लें।

पर्सनल फाइनेंस के इन लेखों को भी पढ़ें:

➡ Did you like the article on Day Trading Tips for Beginners in Hindi ? Please share your comments.

यदि आप Personal Finance पर हमारे साथ कोई article share करना चाहते हैं तो कृपया [email protected] पर भेजें. Select होने पर पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!

Intraday Trading क्या है और कैसे करें ?

intraday trading kya hai kaise kare

यदि आप शेयर मार्केट से डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? पैसे कमाना चाहते हैं तो इसके 2 तरीके हैं- (1). किसी कम्पनी के शेयर खरीद कर लम्बे डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? समय तक निवेश के रूप में रखना; या (2). फायदा (प्रोफिट) कमाने के लिए एक ही दिन में शेयरों की खरीद-बिक्री करना। इनमें से दूसरे तरीके को Intraday Trading कहा जाता है। Intraday का हिंदी में अर्थ होता है “एक ही दिन के भीतर”, अर्थात कोई भी ऐसा कार्य जो एक ही दिन में शुरू करके समाप्त कर दिया जाए उसको Intraday बोलते हैं। अतः शेयर मार्केट में एक ही दिन में की जाने वाली शेयरों की खरीद-बिक्री को इंट्राडे ट्रेडिंग कहा जाता है। यहाँ पर डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? हम आपको Intraday Trading क्या है, Intraday Trading कैसे करें, Intraday Trading से पैसे कैसे कमाएं आदि से सम्बंधित सभी जानकारी देंगे। अतः इस लेख को अंत तक पढ़ें।

Intraday Trading क्या है ?

Intraday Trading शेयर मार्केट में शेयरों की उस ट्रेडिंग गतिविधि को कहा जाता है जिसमें आप लाभ कमाने के लिए एक ही दिन में शेयरों की खरीद और बिक्री करते हैं। भारत में इंट्राडे ट्रेडिंग का आधिकारिक समय सुबह 9.30 बजे से लेकर दोपहर के 3.30 बजे तक होता है और यदि आप इंट्राडे ट्रेडिंग कर रहे हैं तो आपको समय का ख़ास ध्यान रखना होता है। इंट्राडे ट्रेडिंग में समय की महत्ता इसलिए है क्योंकि Intraday Trading में यदि आपने किसी भी दिन अपने खरीदे गए शेयरों को दोपहर के 3.30 बजे तक नहीं बेचा तो वह 3.30 बजे स्वयं बिक जाएंगे। अतः इंट्राडे ट्रेडिंग शेयर मार्केट की एक जोखिम भरी ट्रेडिंग गतिविधि है जिसमें आपको वित्तीय लाभ भी हो सकता है और हानि भी हो सकती है। परन्तु यदि आप इंट्राडे ट्रेडिंग की तय समय सीमा में सावधानी से शेयर बाज़ार के उतार-चढ़ाव पर नज़र रखते हैं और बिना किसी लालच के थोड़ा सा लाभ होते ही अपने उसी दिन खरीदे गए शेयर बेच देते हैं तो आप इस से प्रतिदिन कुछ ना कुछ वित्तीय लाभ कमा सकते हैं।

Intraday Trading कैसे करें ?

Intraday Trading करने के लिए आपको सुबह 9.30 बजे से लेकर दोपहर के 3.30 बजे तक शेयर बाज़ार पर अधिक से अधिक समय बिताना होगा। आप जितना अधिक समय उस पर बिताएंगे उतनी ही सावधानी से ट्रेडिंग कर पाएंगे और एक ही दिन के शेयरों की खरीद- बिक्री में अधिक से अधिक लाभ कमा पाएंगे। यहाँ पर इंट्राडे ट्रेडिंग में यह बात तय है कि सावधानी हटी और दुर्घटना घटी। अतः तय समय सीमा के भीतर आप शेयर मार्केट पर पैनी नज़र रखते हुए शेयरों के दाम बढ़ते ही बेच देने पर लाभ कमा सकते हैं। यदि आपने अपने खरीदे हुए शेयरों की बढ़ोतरी को डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? किसी कारणवश नोटिस नहीं किया तो हो सकता है कि फिर उस दिन 3.30 बजे तक आपके शेयरों के दाम ऊपर ही ना आएं और आपको हानि हो जाए। अतः इंट्राडे ट्रेडिंग में लाभ कमाने के लिए शेयर मार्केट की गतिविधियों पर नज़र रखते हुए आपको अधिक से अधिक समय शेयर बाज़ार को देना होगा। परन्तु यह बिल्कुल भी आवश्यक नहीं है कि आप सुबह 9.30 बजे से लेकर दोपहर के 3.30 बजे तक का पूरा समय शेयर मार्केट पर बिताएं तो आपको निश्चित ही लाभ होगा। कभी- कभी किसी कारणवश ऐसा भी हो सकता है कि आपके द्वारा खरीदे डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? गए शेयरों के दाम उस दिन एक बार भी ना बढ़े और घटते ही रहें या लगभग स्थिर रहें। ऐसी स्थिति आने पर आपको उस दिन इंट्राडे ट्रेडिंग में हानि होना निश्चित है।

Cryptocurrency : क्या होता है क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज, इसपर ट्रेडिंग के लिए कैसे खोलते हैं अकाउंट? जानें सबकुछ

Cryptocurrency : क्या होता है क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज, इसपर ट्रेडिंग के लिए कैसे खोलते हैं अकाउंट? जानें सबकुछ

Cryptocurrency Exchange : क्रिप्टो एक्सचेंज किसी ब्रोकरेज फर्म की तरह होते हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

क्रिप्टोकरेंसी मार्केट (Cryptocurrency Market) ने पिछले कुछ सालों में जबरदस्त तेजी से सुर्खियां हासिल की हैं, यहां तक कि जो लोग वर्चुअल करेंसी के कॉन्सेप्ट को लेकर नाक-भौं सिकोड़ते हैं, वो भी एक बार इसे देखे-जाने बिना नहीं रह पा रहे. सबसे बड़ी बात कि बहुत कम देश ऐसे हैं, जहां पिछले कुछ सालों में क्रिप्टो को उतनी पॉपुलैरिटी और ग्रोथ मिली है, जितनी इसे भारत में मिली (Cryptocurrency in India) है. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने क्रिप्टो को लेकर 'चिंताएं जताई थीं', लेकिन इसके बावजूद देश में क्रिप्टो का बाजार बड़ा ही हुआ है, खासकर पिछले एक साल में. लेकिन, लेकिन. हमें इसकी ग्रोथ और स्पीड को देखकर ही निवेश करना नहीं शुरू कर देना चाहिए, हमें इस बाजार के हर पहलू को समझना चाहिए. और इसी क्रम में हम इस लेख में आपको क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज (Cryptocurrency Exchange) के बारे में बता रहे हैं, जो कि क्रिप्टो इकोसिस्टम का एक बहुत ही अहम हिस्सा है.

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज क्या है?

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज डे ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? एक ऐसा प्लेटफॉर्म होता है, जहां क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग होती है. ट्रेडिंग में क्रिप्टो को दूसरे किसी असेट (यानी या तो कोई दूसरा क्रिप्टो कॉइन या टोकन, या फिर फ्लैट करेंसी यानी रुपया, डॉलर वगैरह) की खरीद-बिक्री के लिए इस्तेमाल किया जाता है. क्रिप्टो एक्सचेंज खरीददार और विक्रेता के बीच में इंटरमीडियरी यानी मध्यस्थ की तरह काम करते हैं. इनकी आय के स्रोत कमीशन और ट्रांजैक्शन फीस होती हैं.

एक क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज किसी ब्रोकरेज फर्म की तरह काम करता है, यानी यह बायर और सेलर के बीच का माध्यम होता है. किसी एक्सचेंज के हिसाब से निवेशक पेमेंट के किसी भी माध्यम जैसे डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर, कार्ड ट्रांजैक्शन, यूपीआई वगैरह से इसपर अपना पैसा डिपॉजिट कर सकते हैं, जिसे वहां से क्रिप्टो कॉइन या टोकन खरीदने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. यह सुविधा उपलब्ध कराने के बदले निवेशक को क्रिप्टो एक्सचेंज को एक फीस देनी होती है.

क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग अकाउंट कैसे खोलते हैं?

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के लिए ट्रेडिंग अकाउंट खोलना बहुत आसान है. लेकिन, ऐसा प्लेटफॉर्म ढूंढने के लिए, जो आपको बेसिक सुविधाएं तो दे ही, कुछ दूसरे बेनेफिट्स भी दे, इसके लिए आपको थोड़ी रिसर्च करनी पड़ेगी. मान लीजिए आप देश के पॉपुलर एक्सचेंज WazirX के साथ अपना अकाउंट खोलना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको ये स्टेप फॉलो करने होंगे-

- अपने स्मार्टफोन में WazirX ऐप डाउनलोड करिए और इसकी वेबसाइट पर जाकर साइन अप करिए.
- साइन अप के लिए अपनी एक ईमेल आईडी डालिए और एक पासवर्ड सेट करिए.
- आपको इस ईमेल आईडी पर एक ईमेल आएगा, वहां जाइए, उसमें आपको Verify Email का ऑप्शन आएगा, जिसपर क्लिक करिए.
- इसके बाद आपके सामने चेकबॉक्स होगा, जिसपर क्लिक करने से पहले जरूरी है कि आप सभी टर्म्स एंड कंडीशन पढ़ लें. फिर चेकबॉक्स पर क्लिक करें.

रेटिंग: 4.65
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 817