नई चीज की शुरुआत करने के लिए दिवाली को माना जाता है शुभ
अपस्टॉक्स (Upstox) में डायरेक्टर पुनीत माहेश्वरी ने कहा कि किसी भी नई चीज की शुरुआत करने के लिए दीपावली को सबसे अच्छा वक्त माना जाता है. बाजार में धारणा सकारात्मक है और विभिन्न क्षेत्रों में खरीदारी हो रही है. माना जाता है कि इस सेशन के दौरान खरीदारी करने पर निवेशक को सालभर लाभ मिलता है. उन्होंने कहा कि यह सत्र केवल एक घंटे का है इसलिए नए कारोबारियों को इस दौरान सतर्कता बरतनी चाहिए क्योंकि बाजार में उतार-चढ़ाव आता रहता है.

Stock Market Timings in India

Share Market Kitne Baje Open Hota Hai | मार्केट टाइम

नमस्कार डियर पाठक कई सारे नए लोगों का सवाल होता है कि Share Market Kitne Baje Open Hota Hai और यह सवाल सही भी है क्योंकि स्टॉक मार्केट में निवेशकों को बाजार कब खुलता है और कब बंद होता है इसका समय पता होना चाहिए ताकि वह सुचारु रुप से लेन-देन कर सकें।

आपको बता दें कि अगर आप शेयर मार्केट में निवेश करते हैं यह करना चाहते हैं तो आपको स्टॉक मार्केट के खुलने और बंद होने का समय अवश्य पता होना चाहिए, क्योंकि डियर पाठक स्टॉक मार्केट खुलने और बंद होने का समय अलग-अलग इंटेक्स और डिफरेंट टाइम और क्षेत्र के अलग-अलग देशों के लिए अलग होता है। स्टॉक मार्केट में सिर्फ कुछ अवकाश को छोड़कर सप्ताह के सभी दिन मार्केट ओपन रहता है, इसलिए अगर कोई निवेशक स्टॉक मार्केट के टाइम टेबल को नहीं फॉलो करता या नहीं जानता उसके लिए स्टॉक मार्केट में पैसा बनाना बहुत मुश्किल है।

Stock Market Kitne baje khulta hai

Share Market Kitne Baje Open Hota Hai – कंटीन्यूअस ट्रेडिंग सत्र सुबह 9.15 बजे से लेकर दोपहर 3.30 बजे तक होता है। इस अवधि के दौरान निरंतर रूप से ट्रेडिंग चलती है, और जब भी खरीद मूल्य; बिक्री मूल्य के बराबर होता है तब लेनदेन पूरा हो जाता है।

चलिए इसको थोड़ा विस्तार से समझते हैं, और भारत के प्रमुख दो एक्सचेंज (BSE) बोम्बे स्टॉक एक्सचेंज और (NSE) नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का स्टॉक मार्केट में खुलने और बंद होने का समय देखेंगे।

(BSE) और (NSE) का शेयर मार्केट में समय प्री-ओपन सेशन के साथ शुरू होता है। आपको बता देगी प्री-ओपन सत्र 15 मिनट का होता है। इस सत्र में ऑर्डर एंट्री पीरियड ओर ऑर्डर मैचिंग पीरियड को निर्धारित करता है।

अब आपको बता दें कि सेशन तीनों क्षेत्रों में बटा हुआ हैयह सत्र तीन उपसत्रों में बांटा गया है।

पहला सेशन

डियर पाठक 9:00 बजे से 9:08 बजे तक इस के समय को ऑर्डर एंट्री सेशन के रूप में जाना जाता है, इस टाइम के दौरान निवेशकों को स्टॉक खरीदने और बेचने का आर्डर देने की परमिशन होती है। और इस समय निवेशक ऑर्डर में बदलाव या फिर कैंसिल भी कर सकते हैं।

दूसरा सेशन

दूसरा सेशन सुबह 9:08 बजे से 9:12 बजे तक होता है और इस सेशन का उपयोग ऑर्डर मैचिंग और रेगुलर सेशन की शुरुआती प्राइस की कैलकुलेशन करने के लिए किया जाता है। इन्वेस्ट रोको इस टाइम पीरियड के दौरान अपने आर्डर को मॉडिफाई या फिर कैंसिल करने की परमिशन नहीं होती है। इस समय के दौरान इन्वेस्टर न तो खरीद सकते हैं और न ही बेंच सकते हैं।

तीसरा सेशन

तीसरा सेशन सुबह 9:12 बजे से 9:15 बजे तक होता है। फ्री ओपनिंग सेशन को बिना किसी प्रॉब्लम के रेगुलर सेशन में बदलने के लिए, इस टाइम को बफर पीरियड के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।

दिवाली के दिन इतने बजे पैसे लगाने से होगी धन की वर्षा! जानिए कब है शुभ मुहूर्त

दिवाली के दिन इतने बजे पैसे लगाने से होगी धन की वर्षा! जानिए कब है शुभ मुहूर्त

वैसे तो दिवाली के दिन शेयर बाजार में कारोबार नहीं होगा लेकिन शाम के वक्त एक घंटे के लिए आपको पैसे लगाने का मौका मिलेगा। दरअसल, हिंदू संवत वर्ष 2079 की शुरुआत के पहले दिन दीपावली है। इस मौके पर प्रमुख शेयर बाजार बीएसई और एनएसई में एक घंटे का विशेष कारोबारी सत्र ‘मुहूर्त ट्रेडिंग’ होगा।

क्या ट्रेडिंग सेशन के दौरान क्या होता है है टाइमिंग: यह सांकेतिक कारोबारी सत्र शाम को 6:15 बजे से 7:15 बजे के बीच होगा। ऐसी मान्यता है कि मुहूर्त के दौरान सौदे करना शुभ होता है और वित्तीय समृद्धि लाता है। अधिकतर निवेशक इस खास दिन का इंतजार करते हैं। ऐसा कहा जाता है कि इस मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान पैसे लगाने पर निवेशक मालामाल होंगे।

Muhurat Trading: दिवाली पर शेयर बाजारों में एक घंटे के लिए होगा मुहूर्त ट्रेडिंग, निवेशक मानते हैं इसे शुभ

दलाल स्ट्रीट स्थित बीएसई बिल्डिंग (फोटो क्रेडिट-Wikimedia Commons)

  • पीटीआई
  • Last Updated : October 22, 2022, 08:35 IST

हाइलाइट्स

दिवाली का त्योहार शेयर बाजार और निवेशकों के लिए बेहद खास रहता है.
शेयर बाजार में दिवाली पर ट्रेडिंग सेशन के दौरान क्या होता है मुहूर्त ट्रेडिंग की परंपरा काफी पुरानी है.
दिवाली पर निवेश को बेहद शुभ माना जाता है.

नई दिल्ली. हिंदू संवत वर्ष 2079 की शुरुआत के ट्रेडिंग सेशन के दौरान क्या होता है पहले दिन दीपावली पर सोमवार को प्रमुख शेयर बाजार बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) में एक घंटे का विशेष कारोबारी सेशन ‘मुहूर्त ट्रेडिंग’ (Muhurat Trading 2022) होगा. शेयर बाजारों में दिवाली के दिन भले ही छुट्टी रहती है, लेकिन इस दिन बाजार एक घंटे के लिए खुलता है.

दोनों शेयर बाजारों ने अलग-अलग सर्कुलर में बताया कि यह सांकेतिक कारोबारी सेशन शाम को 6:15 बजे से 7:15 बजे के बीच होगा. ऐसी मान्यता है कि ‘मुहूर्त’ के दौरान लेन-देन करना शुभ होता है और यह वित्तीय समृद्धि लाता है. मुहुर्त ट्रेडिंग के दौरान शेयर के अलावा जिंस वायदा, मुद्रा वायदा, शेयर वायदा एवं विकल्प जैसे क्षेत्रों में भी कारोबार होगा.

प्री-ओपन सेशन:

ऑर्डर एंट्री और मॉडिफिकेशन ऑपन: 09:00 बजे
ऑर्डर एंट्री और मॉडिफिकेशन क्लोज: 09:08 बजे*
*पिछले 1 मिनट में रैंडम क्लोज़र के साथ.

इस अवधि के दौरान किसी भी ट्रांज़ैक्शन के लिए ऑर्डर देना शुरू कर सकता है. प्री-ओपन ऑर्डर एंट्री बंद होने के तुरंत बाद प्री-ओपन ऑर्डर मैचिंग शुरू हो जाता है. जिसका मतलब यह है कि बाजार के घंटे शुरू होते ही ये ऑर्डर प्राथमिकता दी जाती है क्योंकि शुरुआत में उन्हें साफ कर दिया जाता है.

रेग्युलर ट्रेडिंग सेशन:

इन घंटों के दौरान कोई भी लेन-देन द्विपक्षीय ऑर्डर मैचिंग सिस्टम का पालन करता है, जिसका अर्थ है मांग और आपूर्ति बल मूल्य निर्धारित करते हैं. चूंकि द्विपक्षीय ऑर्डर मैचिंग सिस्टम अस्थिर है और इसमें कई बाजार में उतार-चढ़ाव शामिल हैं जो अंत में सुरक्षा कीमतों पर प्रभाव डालते हैं, इसलिए प्री-ओपनिंग सेशन के लिए मल्टी-ऑर्डर सिस्टम तैयार किया गया था.

यह 15:40 घंटे से 16:00 घंटे के बीच होता है. इस अवधि के दौरान, आप अगले दिन के ट्रेड के लिए बोली लगा सकते हैं क्योंकि यह बाजार बंद होने के बाद है. अगर खरीदारों और विक्रेताओं की पर्याप्त संख्या है, तो इस अवधि के दौरान बिड की पुष्टि की जाती है. इस अवधि के दौरान किए गए बोली के लिए किया गया लेन-देन बाजार की खुली कीमत से प्रभावित नहीं होता है. इसलिए, अगर बंद कीमत शेयर की कीमत से अधिक है, तो भी निवेशकों द्वारा बिड कैंसल किए जा सकते हैं, इसी तरह अगर खुली कीमत बंद कीमत से अधिक हो जाती है, तो एक निवेशक पूंजी लाभ को रिलीज कर सकता है. लेकिन यह 9.00 am से 9.08 AM के बीच प्रति-ओपनिंग सेशन की संकीर्ण विंडो में किया जाना चाहिए.

आफटर मार्केट ऑर्डर (AMO)

AMO का अर्थ है उस सुविधा से है जिसका उपयोग करके आप ट्रेडिंग शुरू होने से पहले अगले दिन की ट्रेडिंग के लिए स्टॉक खरीदने या बेचने के लिए ऑर्डर दे सकते हैं. यह उन लोगों के लिए उपयोगी है जो ट्रेडिंग सेशन के दौरान या मार्केट खुलने पर निगरानी नहीं कर पा रहे हैं. AMO का समय 4:30 PM से 8:50 AM तक है.

भारतीय स्टॉक मार्केट आमतौर पर दिवाली पर किसी भी ट्रांज़ैक्शन के लिए कार्यरत नहीं होते हैं - यह देश भर में धार्मिक समारोह के कारण सार्वजनिक छुट्टी हो रही है. हालांकि, क्योंकि ट्रेडिंग सेशन के दौरान क्या होता है फेस्टिवल के दौरान नए प्रोडक्ट और इन्वेस्टमेंट की खरीद को शुभ माना जाता है, इसलिए मुहुर्त ट्रेडिंग का अपना महत्व है.

हालांकि, कोई निश्चित समय नहीं है (5.30 p.m. से 6.40 pm.), यह एक्सचेंज द्वारा निर्धारित मुहूरत (शुभ समय) पर निर्भर करता है, जो हर साल अलग-अलग हो सकता है.

रेटिंग: 4.80
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 799